अहमदाबाद : दक्षिण से नींबू गायब थे तो तुर्की से मंगवाए , 90 रुपये किलो के भाव से आयात किया गया

कमी को पूरा करने के लिए पहली बार विदेश से नींबू का आयात किया गया

तुर्की से 5 कंटेनर के जरिए 1 लाख 15 हजार किलो नींबू मुंबई लाया गया है। जो कल तक अहमदाबाद पहुंच जाएगी

दक्षिण भारत में तूफान और बारिश के कारण नींबू के राजस्व में गिरावट आई है
गर्मी के मौसम में आमदनी कम होने से नींबू के दाम आसमान छू रहे हैं। एक महीने पहले नींबू की कीमतों में बढ़ोतरी के बाद अब बाजार में कीमतों में तेज गिरावट देखने को मिल रही है। मौजूदा समय में थोक बाजार में नींबू 70 रुपये किलो और खुदरा बाजार में 100 रुपये किलो बिक रहा है। तब अहमदाबाद वासी अब तुर्की नींबू के रस का आनंद लेंगे। दूसरी ओर, तुर्की में, नींबू की प्रचुरता से नींबू की कीमत में तेज गिरावट आई है। इसलिए इसे गुजरात में आयात किया गया है।
थोक विक्रेताओं का दावा है कि यह पहली बार है जब तुर्की से इतनी कीमत और आय की स्थिति के बीच नींबू का आयात किया गया है। तुर्की से 5 कंटेनर के जरिए 1 लाख 15 हजार किलो नींबू मुंबई लाया गया है। जो कल तक अहमदाबाद पहुंच जाएगी। तुर्की में नींबू बहुतायत में उगाए जाते हैं और किसानों को पर्याप्त कीमत नहीं मिल रही है। दूसरी तरफ गुजरात में नींबू की आमदनी घट रही है और दाम भी बढ़ रहे हैं। ऐसे में व्यापारी तुर्की से नींबू मंगवा रहे हैं।
तुर्की नींबू की खासियत की बात करें तो 1 नींबू का वजन करीब 100 ग्राम होता है। इसकी तुलना में एक स्थानीय नींबू का औसत वजन 25-35 ग्राम होता है। नींबू बड़े आकार का होने के कारण रसदार भी होता है। तुर्की से भारत में नींबू 90 रुपये प्रति किलो के भाव से आयात किया गया है। 15-20 दिन पहले अहमदाबाद समेत गुजरात के थोक बाजार में नींबू का भाव रु. 150-200 प्रति था। रमजान और चैत्री नवरात्रि के बाद नींबू की मांग में आंशिक गिरावट आई है और भाव 50-100 तक पहुंच गया है।
नींबू आमतौर पर आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र और कर्नाटक से अहमदाबाद आते हैं। लेकिन दक्षिण भारत में तूफान और बारिश के कारण नींबू की आय में गिरावट आई है। पहले एक हफ्ते पहले रोजाना करीब 20 गाड़ियां नींबू आता था, अब उसके सामने 3-4 गाड़ियां आ रही हैं। तो थोक बाजार में फिर से नींबू के भाव 80-130 किलो देखने को मिल सकते हैं। ऐसे में विदेशों से आए नींबू मांग को पूरा करने में कारगर होंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें