अहमदाबाद : अपने अपहरण का झूठा मैसेज भेजकर पिता से रुपये वसूलने वाला डॉक्टर गिरफ्तार

पुलिस गिरफ्त में आरोपी डॉक्टर

आरोपित डॉ. संकेत ने ऑनलाइन पोकर गेम में लाखों रुपए गंवाकर फिल्मी स्टाइल में किडनैपिंग ड्रामा रचा

अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने मानव स्रोत के साथ-साथ तकनीकी स्रोत की मदद से पूरी घटना का खुलासा किया
अहमदाबाद के खोखरा इलाके के रहने वाले किरीटभाई चिमनलाल शाह ने खोखरा थाने में शिकायत दर्ज कराई कि उनके डॉक्टर बेटे संकेत शाह का अपहरण कर लिया गया है। इस बीच, क्राइम ब्रांच की जांच से पता चला कि उनके बेटे संकेत चिमनलाल शाह ने ऑनलाइन पोकर गेम में लाखों रुपये गंवाकर खुद का अपहरण किया था।
पुलिस के अनुसार शिकायतकर्ता किरीटभाई शाह ने खोखरा थाने में 3 अगस्त 2022 को शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके बेटे डॉ. संकेत शाह, उम्र- 33, घोडासर में बीआरटीएस बस स्टैंड के सामने आईसाइट विजन केयर नामक एक नेत्र अस्पताल चलाते हैं। 3 अगस्त 2022 को सुबह सवा दस बजे जब अस्पताल जाने के लिए घर से निकले तो उनके बेटे संकेत को उनके मोबाइल फोन से 11:15 बजे फोन आया। जिसमें संकेत डरी हुई आवाज में हेलो हेलो बोल रहा था और तभी अचानक फोन कट गया।
बाद में फिर संकेत के मोबाइल फोन से कॉल आया। जिसमें कोई सामने से हिंदी भाषा में बात कर रहा था। जिसके मुताबिक 'तुम्हारा लडका मेरे कब्जे में है' कहकर फोन काट दिया। बाद में संकेत ने मोबाइल पर एक टेक्स्ट मैसेज और एक व्हाट्सएप मैसेज भेजा। 'तुम्हारा बेटा मेरे कब्जे में है, वह तुम्हें जिंदा चाहिए तो 15 लाख रुपये दो बजे रेडी रखना, दो बजे मैं बताऊंगा पैसा लेकर कहां आना है और तुम्हारा बेटा कहा मिलेगा। साथ ही कहा कि गलती से भी पुलिस को सूचना किया तो बेटा क्या उसकी लाश भी नहीं मिलेगी', ऐसा संदेश भेजा गया था। उसके बाद संकेत का फोन स्विच ऑफ हो गया। शिकायतकर्ता ने संकेत के मोबाइल पर मैसेज कर संकेत से बात करने और इतने रुपये का इंतजाम करने के लिए समय देने को कहा। फिर से संकेत के मोबाइल से एक मैसेज आया, जिसमें लिखा था, 'ज्यादा से ज्यादा तीन बजे तक का समय वह तीन बजे कहा पैसे लाना वह वो मुख्य स्थान बताउंगा। अगर पैसे की व्यवस्था समय तक नहीं हुई तो कॉल मैसेज नहीं आएगा और बेटा कभी वापस नहीं आएगा'। 
पुनः संकेत के मोबाइल से एक मैसेज आया जिसमें चार बजे पैसे लेकर सिटी के गेट पास पहुंचना चार बजे बताउंगा वहां से कहा जाना है। तभी शिकायतकर्ता ने संकेत के मोबाइल पर मैसेज किया कि मैंने दस लाख का इंतजाम कर लिया है। फिर से संकेत के मोबाइल से एक संदेश भेजा गया जिसमें कहा गया था कि आप नहीं चाहते कि आपका बेटा सुरक्षित रहे। सुबह 4.15 बजे मैसेज करुंगा साइंस सीटी के गेट पर पहुंच जाना वहां से कहां आना है बताऊंगा।  अगर पंच मिनमें में रिप्लाई आया तो ओके है वरना बेटा भूल जाना। बाद में शिकायतकर्ता के बेटे के मोबाइल फोन से उससे बात करने का अच्छा संदेश आया। उसके बाद संकेत के फोन से कोई कॉल या मैसेज नहीं आया। इन सभी शिकायतों के आधार पर खोखरा थाने में धारा 364 (ए) के तहत मामला दर्ज किया गया है। अपराध की गंभीरता को देखते हुए अहमदाबाद क्राइम ब्रांच ने अलग-अलग टीमों का गठन किया। जिसके तहत डॉक्टर संकेत को दक्षिण बोपल क्षेत्र से मानव स्रोत के साथ-साथ तकनीकी स्रोत के माध्यम से खोजा गया था।
डॉ. संकेत शाह से पूछताछ करने पर पता चला कि उन्होंने 2015 से 2019 तक बैंगलोर में नेत्र रोग विशेषज्ञ की डिग्री के लिए अध्ययन किया था। इस बीच, 2017 से, pokerbaazi.com नामक एक ऑनलाइन एप्लिकेशन पर ताश खेलने के विभिन्न रूपों पर पोकर गेम खेलना शुरू कर दिया। इसमें ऑनलाइन कैश जमा करके पोकर के विभिन्न खेल खेलना शामिल था। उसे इस खेल को खेलने की आदत हो गई थी जिसमें लाखों रुपये का नुकसान होता था। इस गेम को खेलने के लिए उसने अपने दोस्तों से करीब 26.50 लाख रुपए उधार लिए थे। उन्होंने अपनी नेक्सन कार भी गिरवी रख दी। इसलिए उसे इस कर्ज को चुकाने के लिए पैसे की जरूरत थी, इसलिए उसने खुद अपने पिता को संदेश भेजा कि उसका अपहरण कर लिया गया है। उसने अपने पिता से पैसे लेने का फैसला किया।
3 अगस्त 2022 को वह सुबह सवा दस बजे घर से निकले थे। उसने अहमदाबाद शहर में अलग-अलग जगहों पर जाकर अपने पिता को बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने उसका अपहरण कर लिया है और उसके मोबाइल फोन से 15 लाख रुपये की मांग की है। साथ ही पोकर गेम में लाखों रुपये गंवाने के कारण पिछले साल दाणीलिमडा इलाके में उनका एक्सीडेंट हो गया था। उस व्यक्ति ने मामले को निपटाने के लिए 12 लाख रुपये की झूठी सूचना देकर  पिता से 12 लाख रुपये लिए। वह रुपया भी पोकर गेम में वह गंवाने की बात कह चुके हैं। साथ ही डॉक्टर से और पूछताछ की। डॉक्टर को खोखरा थाने को सौंपने की कार्रवाई की जा रही हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें