अहमदाबाद : उतरायण पर इस बार भी चाईनिज मांझे और तुक्कल के चक्कर में मत पड़ना, पुलिस की ये चेतावनी जान लें!

(File Photo Credit : sandesh.com)

गुजरात में मकर संक्रांति का पर्व पतंग उड़ाकर मनाने की परंपरा है। प्रदेश भर में लोग मकर संक्रांति के दिन घरों के छज्जों पर ‌बिताते हैं और सपरिवार पतंगें उड़ाते हैँ। अहमदाबाद पतंगों के इस त्यौहार के लिये विशेष रूप से जाना जाता है। ऐसे में प्रशासन को भी ऐसे अवसरों पर विशेष रूप से चौकन्ना रहना पड़ता है और नागरिकों को कानून के दायरे में बांध कर रखना पड़ता है। नित-नये किस्त की समस्याएं प्रकट होती हैं और उनके अनुरुप नियम-कानून बनाने पड़ते हैं। 
इस बार भी मकर संक्रांति को लेकर अहमदाबाद पुलिस ने विशेष अधिसूचना जारी की है। पुलिस की अधिसूचना कि अनुसार नागरिकों पर पतंगोंत्सव के दौरान चाईनिज डोर यानि मांझे, नायलोन और सिंथेटिक डोर के उपयोग पर प्रतिबंध लगाया गया है। इतना ही नहीं चाईनिज तुक्कल पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। यदि इस नियम का कोई व्यक्ति उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।  बता दें कि चाईनिझ, सिंथेकिट और नायलोन डोर की मदद से पतंग उडाने के कारण कई बार लोगों के गले कटने और पक्षियों और जानवरों के भी घायल होने के किस्से सामने आते रहे हैं। रात में पतंगों के साथ तुक्कल और वह भी चाईनिझ बनावट के तुक्कल उड़ाने के चलन से भी कई बार आगे लगने की वारदातें सामने आती रही हैं। उपरोक्त आदेश इसी मामलों को ध्यान में रखकर दिये गये हैं। 
वहीं अहमदाबाद पुलिस आयुक्त ने अधिसूचना में यह भी कहा है कि सार्वजनिक जगहों पर पतंग उड़ाना या पतंगों को पकड़ने पर भी मनाही है। सड़क पर पतंगें उड़ाने या पकड़ने के प्रयासों के दौरान कई बार लोग स्वयं दुर्घटना के शिकार होते हैं और दूसरों को भी हादसे में लपेट लेते हैं। 
वैसे भी फिलहाल कोरोना की तीसरी लहर तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में लोगों न सिर्फ पतंगोत्सव संबंधी नियमों का पालन करना चाहिये, अपितु कोरोना संबंधी मार्गदर्शिका का भी पालन करते हुए खुद को और दूसरों को स्वस्थ रखने के प्रयास करने चाहिये।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें