नकली लिंग से युवतियों को सेक्स के लिये फंसाने के चक्कर में ट्रांसजेंडर पुरुष को 10 साल की जेल हो गई!

एक ट्रांसजेंडर व्यक्ति जिसने दो महिलाओं और एक किशोरी को नकली लिंग का उपयोग करके यौन संबंध बनाने का लालच दिया, उसे 10 साल की जेल हो गई है। 
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, 32 वर्षीय तारजीत सिंह, जो हन्ना वाल्टर्स नाम की एक महिला के रूप में पैदा तो हुई थी, लेकिन उसने एक पुरुष के रूप में पहचन स्थापित की और संभोग के दौरान कपड़े पहनती और अंधेरे में कृत्रिम लिंग का इस्तेमाल करती। रिपोर्टों के अनुसार, सिंह को इस साल की शुरुआत में स्नेरेसब्रुक क्राउन कोर्ट में विभिन्न मुकद्दमों का सामना करना पड़ा जिनमें तीन मामले में यौन क्रिया संबंधी, अन्य छह मामले वास्तविक रुप से शारीरिक नुकसान पहुंचाने और एक मामला जान से मारने की धमकी संबंधी रहा और सभी में उसे दोषी पाया गया।
सिंह ने एक पीड़िता पर हल्के तरल पदार्थ से हमला करने और बाद में मोबाइल फोन से उसकी नाक फोड़ने के बाद उसे आग लगाने की धमकी दी और लात-घूसों से मारपीट भी की थी। 
न्यायाधीश ऑस्कर डेल फैब्रो ने बुधवार को टिप्पणी की कि सिंह "भविष्य में जनता को गंभीर नुकसान पहुंचाने का जोखिम" रखता है और एक "खतरनाक अपराधी" है, जिसने तीन पीड़ितों के खिलाफ बार-बार हिंसा और हमले किए। उन्होंने कहा कि सिंह "एक निपुण और जोड़ तोड़ करने झूठा" इंसान है। अपने फैसले में जज ने कहा कि सिंह ने खुलकर बात करने और जेंडर के बारे में ईमानदार बातचीत करने के बजाय धोखे का रास्ता चुना। न्यायाधीश फैब्रो ने कहा कि उसने खुद के पुरुष के रुप में उनके सामने प्रस्तुत किया। सिंह जेल में 10 साल की सजा काटेगा जिसके खिलाफ यौन हानि निवारण आदेश भी लगाया गया।
अदालत में पीड़ितों में से एक ने बयान में कहा कि उसका मानसिक स्वास्थ्य प्रभावित हुआ है डिप्रेशन की दवा लेनी पड़ रही है। एक अन्य पीड़िता ने अपने बयान में कि उसके जीवन के सबसे महत्वपूर्ण वर्ष बरबाद हो गये। वह अपनी पढ़ाई और कॉलेज पूरी करने में असमर्थ थी। काफी समय तक उसे बाहर जाने में डर लगता था। वह जिस दौर से गुजरी है, उससे उबरने में उसे काफी वक्त लगेगा।
प्रतिकात्मक तस्वीर (Photo : IANS)
इस बीच, एक अन्य पीड़िता ने अपने बयान में कहा कि वह अपमानजनक रिश्ते के बाद अपने जीवन का पुनर्निर्माण करने में सक्षम नहीं थी। पीड़िता ने कहा, "मुकदमे से ठीक पहले मेरा गर्भपात हो गया था और मुझे हन्ना के बारे में सोचना था।" "मैं शब्दों में बयां करने के लिए संघर्ष करती हूं कि हन्ना ने मुझे कैसे प्रभावित किया। मुझ पर शारीरिक, भावनात्मक और मानसिक रूप से पड़ने वाले प्रभाव की कोई व्याख्या नहीं कर सकता। मैं अभी भी इसके उबरी नहीं हूं और एक ऐसे समय की कल्पना करने के लिए संघर्ष कर रही हूं जब जो हुआ वह खत्म हो जाएगा।’
रिपोर्टों में कहा गया है कि ये सेक्स कांड करने वाला आरोपी पीड़ितों से सोशल मीडिया और चिकन की दुकानों के माध्यम से मिला। एक को प्लेंटी ऑफ फिश नामक डेटिंग साइट के माध्यम से फुसलाया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें