उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ ने दी दस्तक


दिल्ली और आसपास के इलाकों में ठंडी हवाएं दस्तक दे रही हैं। इसकी वजह उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक देने को बताया जा रहा है।
Photo/Twitter
हो रही जमकर बर्फबारी, गिरेगा और तापमान

नई दिल्ली । दिल्ली और आसपास के इलाकों में ठंडी हवाएं दस्तक दे रही हैं। इसकी वजह उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ के दस्तक देने को बताया जा रहा है। मौसम विभाग की माने तो अगले दो दिनों में दिल्ली का न्यूनतम तापमान 4 से 6 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है। गुरुवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम के साथ 20,8 डिग्री दर्ज हुआ। वहीं, न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा के साथ 11,2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। वहीं, बढ़ी ठंड और कोहरे के चलते ट्रेन और फ्लाइट के लेट होने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। जम्मू कश्मीर के उच्च पर्वतीय इलाकों में गुरुवार सुबह भी कुछ क्षेत्रों में बर्फबारी जारी रही, जिससे पूरा राज्य कड़ाके की ठंड की चपेट में है। जवाहर टनल के आसपास सुबह हुए ताजा हिमपात से दो दिन से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर फंसे हजारों वाहन चालकों की परेशानियां और बढ़ गई। जम्मू व श्रीनगर से नए वाहनों को तो नहीं छोड़ा गया, लेकिन फंसे वाहनों को निकाला जाता रहा। हाईवे पर जाम और फिसलन की वजह से यातायात की रफ्तार बेहद मंद रही। बारिश के कारण सुबह किश्तवाड़ी पत्थर, गांगरू और हिंगनी में हल्का भूस्खलन हुआ। इसके अलावा श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ-साथ मुगल रोड लगातार चौथे दिन भी बंद रहा। इस बीच, रेल यातायात भी प्रभावित रहा। लंबी दूरी से आने वाली ट्रेने देरी से जम्मू पहुंच रही हैं। उत्तराखंड में बुधवार से शुरू हुआ बारिश और बर्फबारी का दौर दूसरे दिन भी जारी रहा। मौसम में आए बदलाव से समूचा प्रदेश कड़ाके की शीत की चपेट में है। चारों धाम बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री के अलावा उत्तरकाशी की हर्षिल घाटी में सुबह से हिमपात होता रहा। इसके अलावा कुमाऊं में भी ऐसे ही हालात हैं।

Photo/Twitter

मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को भी कई इलाकों में बारिश और ऊंचाई वाले क्षेत्रों में बर्फबारी हो सकती है। इससे ठंड और बढ़ेगी। गुरुवार को केदारनाथ में माइनस 9 और बदरीनाथ में न्यूनतम तापमान माइनस 6 रिकॉर्ड किया गया। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के मुनस्यारी में बुधवार रात से ही जोरदार बर्फबारी हो रही है। पहाड़ों में बर्फबारी का असर अब मैदानी हिस्सों में भी दिखने लगा है। हिमाचल में गुरुवार को दूसरे दिन भी ऊपरी इलाकों में बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश से शीतलहर से लोगों की परेशानी बढ़ी रही। चंबा जिले के आसपास के अलावा मणिमहेश पर्वत पर पांच से छह फीट बर्फबारी होने का अनुमान है। वहीं, पांगी में दो फीट बर्फबारी हुई है। चंबा जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है। गुरुवार को पूरे प्रदेश में शीत लहर के कारण तापमान सामान्य से नीचे गिर गया। बठिंडा व फिरोजपुर प्रदेश में सबसे ठंडे रहे। इन दोनों शहरों में पारा पांच डिग्री सेल्सियस तक गिर गया था। अमृतसर, लुधियाना और जालंधर में पारा 6 डिग्री के आसपास रहा। वहीं हिमाचल से सटे श्री आनंदपुर साहिब और पठानकोट में तापमान अन्य शहरों से ज्यादा दर्ज किया गया।

– ईएमएस