13 राज्यों में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं ने किया अधिक मतदान


(Photo Credit : amazonaws.com)

चुनाव के नतीजे, भले ही किसी भी पार्टी के पक्ष में आएं, लेकिन मतदान को लेकर जो आंकड़े सामने आ रहे हैं उससे यह जरूर पता चलता है कि लोकतंत्र मजबूत हो रहा है। लोकसभा की 543 सीटों पर चुनाव हुए थे और अब 23 तारीख को नतीजे घोषित किए जाएंगे। सार्वजनिक आंकड़ों के अनुसार, 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में मतदान में महिलाएं पुरुषों से आगे हैं। इस क्लब में उत्तरी भारत के मात्र 2 राज्य, बिहार और उत्तराखंड को जगह मिली है, जहाँ महिलाओं ने पुरुषों की तुलना में अधिक मतदान किया।

2014 के लोकसभा चुनावों में, 10 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे थे जहां महिलाएं पुरुषों से आगे निकल गई थी। 2019 के लोकसभा चुनावों में दक्षिण भारत और पूर्वोत्तर के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की महिलाएं मतदान में सबसे आगे हैं। सूची में पश्चिमी भारत के दो क्षेत्र शामिल हैं, गोवा और दीव-दमन।

इन 13 राज्यों में से 11 में, 2014 में भी अधिक महिला मतदाता थी, लेकिन इस बार, इन सभी राज्यों में पुरुषों की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। केरल राज्य में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष के मुकाबले 2014 में छह लाख अधिक थी, जो इस बार 9 लाख तक पहुंच गई है। तमिलनाडु में इस बार पुरुष मतदाताओं की तुलना में महिला मतदाताओं की संख्या 6 लाख बढ़ी है।

यदि 13 राज्यों में महिला मतदान की संख्या वृद्धी की बात करें तो 21 लाख महिलाओं ने पुरुषों की तुलना में अपने मताधिकार का उपयोग किया है।