वाराणसी में नतीजों से पहले ही सन्यासियों ने दी मोदी को संत की उपाध‌ि, किया राजतिलक


Photo/EMS

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में चुनाव परिणाम आने से पहले भाजपा कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सांकेतिक ‘राजतिलक’ के लिए कार्यक्रम आयोजित किया। अस्‍सी क्षेत्र में स्थित मुमुक्षु भवन में आयोजित इस कार्यक्रम में दंडी संन्‍यासियों और काशी विद्वत परिषद के सदस्‍यों ने भी हिस्‍सा लिया। इस दौरान संन्‍यासियों ने पीएम मोदी को ‘संत’ की उपाधि दी।

काशी विद्वत परिषद के महासचिव आचार्य राम नारायण द्विवेदी ने कहा इस बात में कोई संदेह नहीं है कि वह (मोदी) दोबारा देश के प्रधानमंत्री होंगे, इसलिए काशी में उनका राजतिलक आयोजित किया गया है। उन्‍होंने पीएम मोदी को संत की उपाधि देते हुए कहा कि केवल उनके जैसा संत ही केदारनाथ के बेहद कठिन इलाके में साधना कर सकता है। इस दौरान परिषद ने काशी-विश्‍वनाथ कॉरिडोर के जल्‍द पूरा करने, आयोध्‍या में राम मंदिर बनाने और संविधान के अनुच्‍छेद 370 को खत्‍म करने और समान नागरिक संहिता पर जोर दिया।

उधर, संन्‍यासी जहां पीएम मोदी को अगले प्रधानमंत्री का ताज पहना रहे थे, वहीं मिठाई बनाने वाले एनडीए की जीत होने पर जश्‍न की तैयारियों में जुट गए हैं। भाजपा की जीत के जश्‍न को ध्‍यान में रखते हुए बूंदी लड्डू और कमल के आकार का केक बनाया जा रहा है। शहर के मिठाई निर्माता और भाजपा नेता जितेंद्र लालवानी ने बताया वह लहरतारा स्थित अपनी दुकान में 100 किलो बूंदी के लड्डू बना रहे हैं। इसके अलावा भाजपा के चुनाव चिह्न कमल के आकार के केक बनाए जा रहे हैं।

इन मिठाइयों को भाजपा के सिगरा स्थित कार्यालय में ले जाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी की जीत पर ये केक काटा जाएगा। उधर, भाजपा के काशी क्षेत्र के अध्‍यक्ष महेश चंद्र श्रीवास्‍तव ने कहा कि वह अपेक्षा कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी इस बार पांच लाख से अधिक वोटों से जीतेंगे। उन्‍होंने कहा मिठाई और केक के अलावा पार्टी के कार्यालयों को सजाया जाएगा। इसके अलावा पटाखे फोड़ने और ढोल नगाड़े का भी इंतजाम किया गया है। हालांकि यह सब पूरे प्रदेश में भाजपा के प्रदर्शन को देखते हुए ही किया जाएगा। यदि पार्टी यूपी में 60 सीटें जीतेगी तो बेहद शानदार तरीके से जश्‍न मनाया जाएगा।