तीन तलाक बिल संसद में पेश, हंगामे के कारण सदन स्थगित


लोकसभा में सोमवार को कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक बिल पेश किया है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। लोकसभा में सोमवार को कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक बिल पेश किया है। वहीं लोकसभा में अलग अलग मुद्दों पर भाजपा, कांग्रेस, अन्नाद्रमुक, तेदेपा सदस्यों के हंगामे के कारण शुक्रवार को सदन की कार्यवाही एक बार के स्थगन के बाद दोपहर २.०० बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है। सरकार तीन तलाक बिल को मंजूरी दिलाने में नाकाम रही थी और इसे अध्यादेश के रास्ते लागू कराया था। यह विधेयक मुस्लिम महिलाओं को एक साथ तीन तलाक के खिलाफ संरक्षण देने के लिए लाया गया है। सोमवार को लगातार चौथे कामकाजी दिन प्रश्नकाल नहीं चल सका।

Photo/IANS

राफेल मामले में राहुल गांधी से माफी की भाजपा सदस्यों की मांग, कांग्रेस सदस्यों की जेपीसी की मांग सहित अलग अलग मुद्दों पर विभिन्न दलों के सदस्यों के हंगामे के कारण सोमवार को लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के करीब १० मिनट बाद ही दोपहर १२ बजे तक के लिये स्थगित कर दी गई। आज सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने पर अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने जाम्बिया के संसदीय शिष्टमंडल के विशेष कक्ष में मौजूद होने की जानकारी दी। उन्होंने जैसे ही प्रश्नकाल शुरू करने को कहा, अन्नाद्रमुक सदस्य कावेरी नदी पर बांध का निर्माण रोकने की मांग करते हुए अध्यक्ष के आसन के पास आ गए।

तेलुगुदेसम पार्टी सदस्य आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग करते हुए हाथो में तख्तियां लेकर आसन के पास आ गए। वहीं कांग्रेस सदस्य राफेल मामले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग करते हुए आसन के समीप आ गए। भाजपा सदस्य राफेल मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले के आलोक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी मांगने की मांग कर रहे थे।
भाजपा के मुख्य सचेतक अनुराग ठाकुर ने कहा कि राहुल गांधी को राफेल मामले में सदन में माफी मांगनी चाहिए। भाजपा सदस्य अपने स्थानों पर खड़े होकर अपने हाथों में पोस्टर लहरा रहे थे जिस पर लिखा था कि ‘राफेल पर झूठ को लेकर राहुल गांधी माफी मांगें।’ अध्यक्ष ने सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और सदन की बैठक चलने देने का आग्रह किया। लेकिन हंगामा थमता नहीं देख उन्होंने कार्यवाही शुरू होने के करीब १० मिनट बाद ही दोपहर १२ बजे तक के लिये स्थगित कर दी।

– ईएमएम