ताजमहल में शुरू हुआ मुग़ल बादशाह शाहजहां का उर्स, चढ़ाई जाएगी 1,221 मीटर लंबी चादर


ताजमहल में 2 अप्रैल 2019 से मुगल बादशाह शाहजहां का 364वां उर्स शुरू हो गया है। ये उर्स 4 अप्रैल तक चलेगा।
Photo/Twitter

आगरा । ताजमहल में 2 अप्रैल 2019 से मुगल बादशाह शाहजहां का 364वां उर्स शुरू हो गया है। ये उर्स 4 अप्रैल तक चलेगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उर्स के दौरान 2 और 3 अप्रैल को दोपहर बाद से बिना टिकट के ही लोगों को ताजमहल में प्रवेश करने दिया जाएगा। जबकि, 4 अप्रैल के दिन सुबह से ही बिना टिकट जाने की इजाजत होगी। उर्स के अंतिम दिन ताजमहन में बनी शाहजहां और मुमताज की कब्र पर चादर चढ़ाई जाएगी।उर्स आयोजन समिति के सदस्य ताहिरुद्दीन ताहिर के मुताबिक,4 अप्रैल को दोपहर करीब 3 बजे चादर चढ़ाने का सिलसिला शुरू होगा। बता दें, सालभर में केवल उर्स के दिनों में ही शाहजहां और मुमताज की कब्र का दीदार करने का मौका मिलता है।

हर वर्ष तीन दिन तक चलने वाले इस उर्स के दौरान शाहजहां और मुमताज की कब्र पर चढ़ाई जाने वाली चादर की लंबाई बढ़ा दी जाती है। इस बार उर्स में 1,221 मीटर लंबी चादर चढ़ाई जाएगी। जबकि, पिछले वर्ष चढ़ाई गई चादर की लंबाई 1,111 मीटर थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उर्स के दौरान निकलने वाला जुलूस और इसमें शामिल लोगों की संख्या हर साल लगातार बढ़ रही है।

उर्स के दौरान मंगलवार की दोपहर बाद गुस्ल की रस्म अदा की जाएगी। इसके बाद कब्र पर फातिहा पढ़ी जाएगी। वहीं, उर्स के दूसरे दिन यानी बुधवार को संदल चढ़ाने का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उर्स के आखिरी दिन 4 अप्रैल को शाहजहां और मुमताज की कब्र पर चादर चढ़ाने की रस्म होगी। उर्स के दौरान ताजमहल में कव्वाली का कार्यक्रम भी आयोजित किया जाता है।

– ईएमएस