भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान में घूस कर आतंकी ठिकाने किये तबाह


(Photo Credit : moneyinc.com)

नई दिल्ली। पुलवामा में आतंकी हमले में मारे गये सीआरपीएफ जवानों की शहादत का बदला आखिरकार भारत ने ले ही लिया। पुलमावा की वारदात के १२ दिनों बाद २६ फरवरी २०१९, मंगलवार की रात भारतीय समय के अनुसार लगभग ३.३० बजे जब भारत और पाकिस्तान में लोग चैन की नींद ले रहे थे, भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान मे घूस कर आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया।

सूत्रों के अनुसार भारतीय वायु सेना ने बालाकोट, चकोठी और मुज्जफराबाद स्थित आतंकी ठिकानों को संपूर्ण रूप से तबाह कर दिया है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का कंट्रोल रूप भी तहस-नहस हो गया है। जिन इलाकों को निशाना बनाया गया उसमें एक ठिकाना खैबर पक्तूनख्वा का भी था, जिसके बारे में स्थानीय खूफिया सूत्रों से जानकारी जुटाई गई थी।

बताया जा रहा है कि इस सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय वायु सेना के १२ मिराज २००० विमानों ने हिस्सा लिया। भारतीय विमानों ने करीबन १००० किलो बम आतंकी ठिकानों पर बरसाए। ‌मिराज विमानों को कवर देने के लिये अन्य जैट विमानों का भी उपयोग किया गया। पूरा ऑपरेशन लगभग २० मिनट तक चला।

पाकिस्तान की किसी भी प्रकार की संभावित जवाबी कार्रवाई के लिये भारतीय वायु सेना को अंतरर्राष्ट्रीय सीमा एवं एलओसी पर संपूर्ण रूप से सतर्क रहने के आदेश दे दिये गये हैं।

सुरक्षा मामलों की कै‌बिनेट समिति की बैठक

राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में सुरक्षा मामलों की कै‌बिनेट समिति की बैठक हुई जिसमें भारतीय वायु सेना की कार्रवाई की समीक्षा की गई। बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, अरुण जेटली, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवाल व अन्य महत्वपूर्ण अधिकारी उपस्थित रहे।

पाकिस्तान में चुप्पी

भारत के इस कदम पर पाकिस्तानी खेमे में फिलहाल चुप्पी है। अधिकृत रूप से कोई प्रतिक्रिया नहीं है। रेडियो पाकिस्तान के अनुसार पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरेशी ने एक आपात बैठक बुलाई है।

राजनीतिक प्रतिक्रियाएं

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सेना के जबरदस्त पराक्रम को सराहा।

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी पहली प्रतिक्रिया ट्वीट करते देते हुए भारतीय वायु सेना के पायलटों की सराहना की।

वहीं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी भारतीय फाईटर पायलट की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कड़े तेवरों को भी जायज बताया। उन्होंने कहा कि यह नया भारत है। पहले तो भारत किसी को छेड़ेगा नहीं, और यदि किसी ने भारत को छेड़ा, तो वह छोड़ेगा नहीं।

वहीं सुब्रमण्यन स्वामी ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि भारतीय वायु सेना द्वारा बालाकोट, चकोठी और मुज्जफराबाद के जिन इलाकों में आतंकी ठिकानों पर हमले की रिपोर्ट आ रही है, वे इलाके पीओके में हैं और हम अपने इलाके में कार्रवाई कर ही सकते हैं, इसमें कुछ गलत नहीं। उन्होंने आगे कहा कि यदि कार्रवाई पाकिस्तानी इलाके में भी हुई तो भी युनाईटेड नेशन्स चार्टर के तहत हमें अपनी सुरक्षा का अधिकार प्राप्त है। पाकिस्तान लगातार हम पर परोक्ष रूप से हमला करता रहा है और वह भारत को हजार घाव देने की बात करता है। ऐसे में हमारी सरकार ने १००० बम से उन पर बड़े घाव देकर सही किया है।