सुको ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड को बेहद भयावह बताया, बिहार सरकार को लगाई लताड़


देश की शीर्ष अदालत ने बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड को बेहद डरावना और भयावह कराक देते हुए वहां की सरकार को लताड़ा है।

नई दिल्ली। देश की शीर्ष अदालत ने बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड को बेहद डरावना और भयावह कराक देते हुए वहां की सरकार को लताड़ा है। मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी टिप्पणी की है।

सीबीआई द्वारा फाइल की गई स्टेटस रिपोर्ट पर टिप्पणी करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा, यह बेहद डरावना और भयावह है। बिहार सरकार कर क्या रही है? ब्रजेश ठाकुर (मुख्य अभियुक्त) बहुत प्रभावशाली व्यक्ति है” सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई और बिहार सरकार से पूछा कि बिहार सरकार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति चन्द्रशेखर वर्मा की अभी तक क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आरोपी बृजेश ठाकुर काफी प्रभावशाली व्यक्ति है और वो चल रही जांच में बाधा पहुंचा रहा है। इसलिए उसे बिहार से बाहर जेल में ट्रांसफर कर देना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने बृजेश ठाकुर को नोटिस जारी कर पूछा कि क्यों ना फ्री एंड फेयर जांच के लिए उसे बिहार से बाहर जेल में ट्रांसफर कर दिया जाए?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि शेल्टर होम रेप केस में सीबीआई की स्टेटस रिपोर्ट चौंकाने वाली है और इससे पता चलता है कि किस भयावह तरीके से अपराध किया गया। सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार पर सवाल उठाया और कहा कि आखिर सरकार क्या कर रही है? इस दौरान बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के सुझाव का समर्थन किया कि बृजेश ठाकुर को बिहार से बाहर ट्रांसफर किया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट में लिफ़ाफाबन्द स्टेटस रिपोर्ट भी दाखिल की गई।

अमीकस क्यूरी अपर्णा भट्ट ने कोर्ट को बताया कि एक पूर्व मंत्री का पति चंद्रशेखर वर्मा अवैध हथियार के साथ पटना में देखा गया है। बिहार सरकार और सीबीआई इस पर भी स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे और फरार बताए जा रहे वर्मा का आता पता लगाकर उचित कार्रवाई करे। मामले की अगली सुनवाई 30 अक्टूबर को होगी।

– ईएमएस