शिवसेना ने मुंबई में पोस्टर लगाकर भाजपा से पूछा- यही है अच्छे दिन!


मुंबई । पिछले कई दिनों से देश भर में पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है और गाड़ी वाले हलाकान हो रहे हैं, जिसकी वजह से अब मोदी सरकार विपक्ष के साथ-साथ अपनी ही सहयोगियों के निशाने पर आ गई है।

पेट्रोल-डीजल के लगातार बढ़ रहे दामों के बीच कांग्रेस के साथ-साथ एनडीए की सहयोगी शिवसेना ने भी भाजपा पर हमला बोला है और पीएम मोदी के सबसे अच्छे सूत्रवाक्य ‘अच्छे दिन’ पर तंज कसा है। शिवसेना अब पेट्रोल-डीजल के दाम पर खुलकर भाजपा के सामने आ गई है और बैनर-पोस्टर के सहारे मोर्चा खोल दिया है। शिवसेना ने पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है और मुंबई में कई जगह पोस्टर-बैनर लगाया है। शिवसेना ने दो तस्वीरें जारी की हैं, जिनमें पेट्रोल के दामों का जिक्र किया गया है। शिवसेना ने जो पोस्टर लगाया है, उसमें 2015 और 2018 में तेल की कीमतों के अंतर का आंकड़ा दिखाया है और सरकार से पूछा है कि- क्या यही है अच्छे दिन?

एक पोस्टर पर शिवसेना लिखा हुआ है और दूसरे पर युवा सेना। यानी कि यूथ विंग भी इस पोस्टर से भाजपा पर हल्ला बोल रही है। पोस्टर पर जो छपा है, उसके मुताबिक, इसे महिम विधानसभा में लगाया गया है। दरअसल, 2015 और 2018 में पेट्रोल और डीजल के दामों में अंतर दिखाकर शिवसेना ने भाजपा की खिल्ली उड़ाई है। बता दें कि महाराष्ट्र में सबसे अधिक पेट्रोल महंगा बिक रहा है। वहां पेट्रोल की कीमत 89 रुपये प्रति लीटर तक चला गया है। बता दें कि देश के मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने भी 10 सितंबर को पेट्रोल और डीजल की महंगाई को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ भारत बंद का आह्वान किया है। इसमें कई क्षेत्रीय दलों ने भी भारत बंद में अपना समर्थन देने का वादा किया है।