धारा 377 पर फैसला : स्वामी ने कहा, एडस रोगी बढ़ोत्तरी होगी


नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए कहा कि समलैंगिक यौन संबंध अपराध नहीं है। भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने इस फैसले पर निराशा जाहिर करते हुए कहा,इस फैसले को चुनौती दी जा सकती है। स्वामी ने कहा, कोर्ट का ये फैसला अंतिम नहीं है। इस फैसले को सात जजों की बैंच द्वारा पलटा जा सकता है। सुब्रमण्यम स्वामी ने इस जेनेटिक डिसऑर्डर से जुड़ा मामला बताया। उन्होंने कहा, इसके बाद एचआईवी के मामले बढ़ सकते है।