एस जयशंकर के विदेशमंत्री बनते ही जानों उनके पुत्र ने ट्वीट करके क्या अपील की


(Photo Credit : indianexpress.com)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में, जिन्हें आश्चर्यजनक रूप से स्थान दिया गया है, वह चेहरा एस. जयशंकर का है। मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान, वह 2015 से 2018 तक देश के विदेश सचिव पद पर रह चुके हैं। पिता के विदेश मंत्री बनने के बाद, उनके बेटे ने ट्वीट करके अपने दोस्तों से अपील की कि अब मुझे कोई पासपोर्ट बनाने के लिए मत कहना।

ध्रुव जयशंकर ने ट्वीट किया, ” इससे पहले कि मुझे कोई इस विषय में बोले, मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं पासपोर्ट बनाने और वीज़ा के लिए किसी की मदद नहीं करूंगा। न तो किसीकी विदेशी जेल में होने की समस्या का समाधान कर सकता हुं। मेरी खुद की कई समस्याएं हैं (जेल के अलावा, मैं इस सब से दूर रहना चाहता हूं।)

ध्रुव जयशंकर के इस ट्वीट पर काफी प्रतिक्रियाएं आ रही है। एक यूजर ने कहा कि शायद अब आपके साथ ऐसा ही होने वाला है। बेस्ट ऑफ लक। एक अन्य यूजर ने कहा कि अब आपके साथ लगातार ऐसा होने वाला है।

उल्लेखनीय है कि एस. जयशंकर को लोकसभा में उतारा नहीं गया था। ऐसे में वे राज्यसभा के सदस्य के रूप में एक मंत्री होंगे। वे प्रधानमंत्री मोदी के भरोसेपात्र हैं। वह 1977 बैच के IFS अधिकारी हैं। उन्होने अमेरिका के साथ परमाणु समझौते का मार्ग प्रशस्त करने के अलावा, डोकलाम विवाद को सुलझाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। वे सुषमा स्वराज की जगह लेंगे।