रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने अमृतसर रेल हादसे पर जताया गहरा दुख


Photo/wikipedia.com

नई दिल्‍ली। पंजाब के अमृतसर में शुक्रवार शाम रावण दहन कार्यक्रम के दौरान हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे पर रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने गहरा दुख जाताया है।

उन्‍होंने मारे गए लोगों और उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्‍यक्‍त की है और घायलों के जल्‍द से जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना भी की। राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने कहा, पंजाब में हुई दुखद रेल दुर्घटना पर अपनी गहरी संवेदनाएं व्‍यक्‍त करता हूं।

मैं मारे गए लोगों के परिवारों और मित्रों के प्रति के प्रति सहानुभूति व्‍यक्‍त करता हूं और घायलों के जल्‍द से जल्‍द स्‍वस्‍थ होने की कामना करता हूं। इस हादसे पर अंतरराष्‍ट्रीय जगत से यह पहली बड़ी प्रतिक्रिया आई।

उल्‍लेखनीय है कि पंजाब में अमृतसर के निकट शुक्रवार शाम रावण दहन देखने के लिए रेल पटरियों पर खड़े लोगों के ट्रेन की चपेट में आने से 60 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई जबकि 70 से ज्‍यादा अन्य घायल हो गए। ट्रेन जालंधर से अमृतसर आ रही थी तभी जोड़ा फाटक पर यह हादसा हुआ।

मौके पर कम से कम 300 लोग मौजूद थे जो पटरियों के निकट एक मैदान में रावण दहन देख रहे थे। इससे पहले शुक्रवार रात तक अमृतसर के प्रथम उपमंडलीय मजिस्ट्रेट राजेश शर्मा ने 58 लोगों की मौत की पुष्टि की थी। उन्होंने कहा था कि कम से कम 72 घायलों को अमृतसर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि रावण दहन और पटाखे फूटने के बाद भीड़ में से कुछ लोग रेल पटरियों की ओर बढ़ने लगे जहां पहले से ही बड़ी संख्या में लोग खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे। उन्होंने बताया कि उसी वक्त दो विपरीत दिशाओं से एक साथ दो ट्रेनें आईं और लोगों को बचने का बहुत कम समय मिला।

उन्होंने बताया कि एक ट्रेन की चपेट में कई लोग आ गए। इस घटना के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई, बदहवास लोग अपने करीबियों को तलाशने लगे। क्षत-विक्षत शव घटना के घंटों बाद भी घटनास्थल पर पड़े थे क्योंकि नाराज लोग प्रशासन को शव हटाने नहीं दे रहे थे।

इस बीच पंजाब सरकार ने शनिवार को एक दिन के शोक का ऐलान किया है। दफ्तर और शिक्षण संस्थान शनिवार को बंद रखे गए हैं। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने घटना की जांच के आदेश दिये हैं।

-ईएमएस