कोरोना प्रभावित देशों से लौटकर ट्रावेल हिस्ट्री छुपाना अपराध माना जायेगा


प्रतिकात्मक तस्वीर। (PC : beteches.com)

कोरोना वायरस के देश में सबसे ज्यादा 14 मामले केरल में दर्ज हुए हैं। इन 14 में से 8 लोग इटली की यात्रा करके लौटे थे। लेकिन एयरपोर्ट पर स्क्रनिंग करवाए बगैर ये अपने घर के लिये चल दिये। बाद में अन्य लोग उनकी चपेट में आए और वे भी कोरोना ग्रस्त हो गए।

इसी के मद्देनजर केरल की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने कहा है कि पब्लिक हेल्थ एक्ट के अनुसार यह बीमारी फैल सके ऐसी किसी भी संभावना व जानकारी को छुपाना अपराध की श्रेणी में आता है। जो लोग अपनी ट्रावेल हिस्ट्री छुपाएंगे उनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किये जायेंगे। विशेष रूप से कोरोना प्रभावित देश की यात्रा करके लौटने वाले यात्री।

उन्होंने मीडिया से कहा कि विदेश यात्रा और खास कर चीन, इटली व ईरान की यात्रा से लौटे यात्री कोरोना पोजीटीव पाए जाते हैं तो वे अन्यों को संक्रमित कर सकते हैं। इसीलिये ऐसे लोगों से अपनी ट्रावेल हिस्ट्री प्रशासन को बताना अनिवार्य किया गया है। ऐसा नहीं करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

वैसे केंद्र सरकार ने मंगलवार को यह आदेश भी दे दिया है कि कोरोना प्रभावित देश की यात्रा करके लौटने वालों को अपने साथ कोरोना की जांच की नेगेटिव रिपोर्ट साथ लेकर आना होगा, तभी उन्हें देश में प्रवेश दिया जायेगा।