राम मनोहर लोहिया अस्पताल ने किडनी से निकाला दुनिया का सबसे बड़ा ट्यूमर


५३ साल के एक मरीज की किडनी से ६.४८ किलो का एक ट्यूमर निकाला है, जिसे अभी तक दुनिया का सबसे बड़ा ट्यूमर माना जा रहा है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। राम मनोहर लोहिया अस्पताल ने ५३ साल के एक मरीज की किडनी से ६.४८ किलो का एक ट्यूमर निकाला है, जिसे अभी तक दुनिया का सबसे बड़ा ट्यूमर माना जा रहा है। गिनेज बुक ऑफ वल्र्ड रेकॉर्ड में ५।५ किलो का सबसे बड़ा ट्यूमर निकाले का रेकॉर्ड अब तक मुंबई के मुंबई म्युनिसिपल अस्पताल के नाम था, जिसे आरएमएल ने तोड़ दिया है।

अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग के असिस्टेंट प्रफेसर डॉ॰ उमेश शर्मा बताते हैं कि दो महीने पहले बरेली का एक पेशंट लेफ्ट एबडोमेन में पेन के साथ अस्पताल में भर्ती हुआ था। जब उसकी एमआरआई की गई, तो किडनी में काफी बड़ा ट्यूमर दिया। बीते गुरुवार को उनका ऑपरेशन किया गया।

डॉ. उमेश ने बताया कि ऑपरेशन करने के लिए हमें उनके लंग्स को पूरा खोलना पड़ा। ऑपरेशन में जो ट्यूमर निकला, उससे सभी हैरान थे क्योंकि एमआरआई में जितना बड़ा ट्यूमर दिखाई दे रहा था, वास्तव में यह उससे कहीं ज्यादा बड़ा था। वजन किया गया तो इसका कुल वजन ६.४८ किलो निकला। यह जानकर सभी हैरान थे लेकिन इतना बड़ा ट्यूमर होने के बाद भी पेशंट को ज्यादा तकलीफ नहीं हुई। अब ऑपरेशन के बाद वह बिल्कुल ठीक है।

इस ट्यूमर को निकालने के बाद हमारी टीम ने गिनेस बुक ऑफ रेकॉर्ड चेक किए तो सामने आया कि यह सबसे बड़ा ट्यूमर है। इससे पहले सबसे बड़ा ट्यूमर ५.५ किलो का था, जिसे पिछले साल मुंबई म्यूनिसिपल अस्पताल के डॉ॰ अजीत सांवत और उनकी टीम ने निकाला था। इसलिए हमने गिनेस बुक ऑफ वल्र्ड रेकॉर्ड में इसे दर्ज करने के लिए ऐप्लिकेशन भेजी है।

वहां से हमें जवाब मिला है कि वह १२ हफ्तों के समय के बाद यह बता सकते हैं कि इसे वल्र्ड रेकॉर्ड में शामिल किया जा सकता है या नहीं। फिलहाल पेशंट अस्पताल में ही हैं। तीन से चार दिन में उन्हें डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।

– ईएमएम