राहुल कह रहे हैं – सरकार ने कोरोना को पहले गंभीरता से लिया होता तो ऐसा बड़ा संकट खड़ा न होता


(PC: ndtvimg.com)

नई दिल्ली (ईएमएस)। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुए संकट से निपटने के लिए सरकार की तैयारियों पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि इस वायरस के खतरे को पहले ही गंभीरता से लिया जाना चाहिए था। अगर पहले सावधानी बरती गई होती, तो इतनी तबाही नहीं होती।

राहुल गांधी ने, मास्क एवं ग्लव्स की कमी से जुड़े, एक चिकित्सक के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा कि मुझे दुख हो रहा है, क्योंकि इस स्थिति से बचा जा सकता था। गांधी ने कहा कि हमारे पास तैयारी का समय था। हमें इस खतरे को ज्यादा गंभीरता से लेना चाहिए था और बेहतर तैयारी कर लेनी चाहिए थी।

 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने इस चिकित्सक के ट्वीट का हवाला देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी, कोरोना वायरस से लड़ने की आपकी रणनीति में यही गलती है। चिकित्सकों एवं नर्सों को ताली नहीं, स्वास्थ्य सुरक्षा से जुड़े उपकरणों की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकार को चिकित्सा कर्मियों की आवाज सुननी चाहिए।