स्मृति इरानी दक्षिण में भी राहुल का पीछा नहीं छोड़ेंगी?


(PC : rozanaspokesman.com)

राहुल अगर वायनाड से चुनाव लड़ते हैं तो स्मृति वहां भी मुकाबिल होगी?

तिरुवनंतपुरम (ईएमएस)। भाजपा नेत्री और केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मोर्चा लेने का मन केवल अमेठी भर से नहीं बनाया वे उन्हें दक्षिण से भी चुनौती देने के लिए तैयार हैं।

खबरों के मुताबिक राहुल उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट के अलावा केरल की वायनाड सीट से भी लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। अब ऐसी खबरें आ रही हैं कि भारतीय जनता पार्टी की नेता स्मृति इरानी भी राहुल के सामने अमेठी के साथ-साथ वायनाड में चुनौती पेश कर सकती हैं।

सूत्रों की मानें तो भाजपा दक्षिणी राज्य में किसी वरिष्ठ नेता को उतार सकती है और संभावना है कि वह नेता इरानी ही हों। भाजपा और बीजेडीएस (भारत धर्म जन सेना) इस बारे में गंभीरता से विचार कर रहे हैं। दोनों इस चर्चा में हैं कि अगर राहुल वायनाड से चुनाव लड़ते हैं तो गठबंधन भी वहां कोई बड़ा नाम मैदान में उतारे।

बीजेडीएस नेतृत्व को इस बारे में बता दिया गया है कि इस सीट से भाजपा चुनाव लड़ेगी। राज्य भाजपा अध्यक्ष श्रीधरन पिल्लई ने बताया, अगर कांग्रेस इस सीट को फाइनल करती है तो वायनाड में सीरियस लड़ाई होगी। पार्टी का कोई सीनियर नेता यहां से लड़ेगा।’ पार्टी में इसे लेकर कई नामों पर चर्चा हो रही है। राहुल के चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद शीर्ष नेतृत्व इस बारे में आखिरी फैसला करेगा। भाजपा के महासचिव जेआर पद्मकुमार ने बताया, यह फैसला अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (एआईसीसी) के ऐलान के बाद किया जाएगा। बीजेडीएस ने फैसला किया है कि मंगलवार को प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया जाएगा। उससे पहले हम एआईसीसी की घोषणा होने की उम्मीद कर रहे हैं।