राहुल की दोहरी नागरिकता मामले पर गृह मंत्रालय का नोटिस, प्रियंका ने आरोप को बकवास बताया


Photo/Twitter

विभिन्न चरणों में हो रहे लोकसभा चुनाव के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता का मामला गरमा गया है। इस संबंध में गृह मंत्रालय ने राहुल गांधी को नोटिस थमाते हुए पूछा है कि उनकी ब्रिटिश नागरिकता के संबंधी में मिली शिकायत के संबंध में वे अपना स्पष्टीकरण दें और तथ्य रखें। राहुल गांधी से १५ दिनों में अपना पक्ष रखने को कहा गया है।

गृह मंत्रालय द्वारा राहुल गांधी को उनकी कथित दोहरी नागरिकता मामले पर लिखा गया पत्र।

राहुल गांधी को दिये गये इस नोटिस के जवाब में कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि राहुल गांधी जन्मजात भारतीय हैं और पूरी दुनिया यह जानती है।

राहुल गांधी की बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस आरोप को बकवास करार दिया। देखें वीडियोः

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी पार्टी की ओर से आधिकारिक प्रतिक्रिया दी।

गृह मंत्रालय ने राहुल गांधी को यह नोटिस भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की शिकायत के आधार पर भेजा। २९ अप्रेल को नागरिकता निदेशक बी सी जोशी की ओर से भेजे गये नोटिस में राहुल गांधी से पूछा गया था कि एक कंपनी के दस्तावेज में उनकी नागरिकता ब्रिटिश दर्शायी गई है, ऐसे में वे इस बाबत खुलासा करें।

पत्र में लिखा गया है कि सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने गृहमंत्रालय को सूचित किया था कि वर्ष २००३ में ब्रिटन में पंजीकृत Backops Limited नामक कंपनी में राहुल गांधी निदेशक और साथ ही सचिव के रूप कार्यरत थे। शिकायत में यह भी कहा गया कि वर्ष २००५-०६ में कंपनी के फाईल किये गये रिटर्न में राहुल गांधी की जन्म तिथि १९/०६/१९७० दर्शायी गयी है और नागरिका ब्रिटिश घोषित की गई है।