मोदी पर अभद्र नारे पर प्रियंका ने दी सफाई, नहीं थी ऐसी मंशा


प्रियंका गांधी ने चुनाव प्रचार के वक्त उनके सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बच्चों के आपत्तिजनक नारे के मामले सफाई पेश की है।
Photo/twitter

नई दिल्ली। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने रायबरेली में चुनाव प्रचार के वक्त उनके सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ बच्चों के आपत्तिजनक नारे के मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार आयोग (एनसीपीसीआर) ने नोटिस भेजा है। प्रियंका गांधी ने पूरे मामले पर सफाई पेश की है। उन्होंने साफ किया है कि इस तरह के नारे लगवाने की उनकी मंशा नहीं थी, आपत्तिजनक नारे लगाने पर उन्होंने विरोध भी जताया। प्रियंका गांधी ने इस मामले पर कहा, ‘बच्चे खेल रहे थे। मैं उतरी उनसे मिलने के लिए। उन्होंने कुछ नारे लगाए। जैसे ही उन्होंने गलत तरह के नारे लगाए, मैंने उनको रोका और कहा कि बेटा, ये वाले नहीं, अच्छे अच्छे नारे लगाओ। ठीक है, नोटिस आया है।’

आयोग ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को तीन दिन के भीतर ब्यौरा उपलब्ध कराने को कहा है। उनसे उन बच्चों के नाम, पते की जानकारी के साथ यह भी पूछा गया है कि नारेबाजी किस जगह हुई थी और वहां पर बच्चे किस तरह पहुंचे? बच्चों के अधिकारों के शीर्ष निकाय राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को चुनाव प्रचार में कथित तौर पर बच्चों के उपयोग के मामले में नोटिस जारी किया है। बाल अधिकार आयोग ने मीडिया को शिकायत या शिकायतकर्ता के बारे में कोई भी जानकारी अब तक नहीं दी है। एनसीपीसीआर ने कहा है कि यह शिकायत उस वीडियो को लेकर है जिसमें बच्चे प्रियंका गांधी के समक्ष अभद्र भाषा का प्रयोग करते दिख रहे हैं। आयोग ने अपने इस नोटिस में चुनाव प्रचार में बच्चों के प्रयोग को लेकर आपत्ति जताई है। साथ ही यह भी बताया है कि बॉम्बे हाईकोर्ट के चार अगस्त, 2014 को दिए आदेश में कहा गया है कि बच्चों को चुनाव प्रचार में शामिल नहीं किया जाना चाहिए।

हाईकोर्ट के निर्देश के बाद चुनाव आयोग ने 21 फरवरी 2017 को सभी राजनीतिक पार्टियों को निर्देश दिया था कि चुनाव प्रचार में बच्चों को शामिल नहीं किया जाना चाहिए। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की शिकायत चुनाव आयोग को मिल चुकी है। बता दें बच्चों की ओर नारे लगाने के दौरान अभद्र भाषा के इस्तेमाल पर प्रियंका गांधी ने तुरंत उन्हें टोक दिया था। साथ ही उनके साथ खड़े लोगों ने भी बच्चों को ऐसे नारे लगाने से रोका था। बच्चों को समझाते हुए प्रियंका उसी वीडियो में कहती दिखी थीं कि ये वाला नहीं… ये अच्छा नहीं है। अच्छे बच्चे बनो। प्रियंका की सलाह के बाद बच्चे राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर देते हैं।

– ईएमएस