गिरिराज सिंह के बयान पर गर्म हुई सियासत, भाजपा सांसद ने सवाल खड़े किए


केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विवादित बयान देते हुए कहा कि मुसलमान मुगल के वंशज नहीं बल्कि प्रभु श्रीराम के वंशज है।
Photo/Twitter

बहराइच। लोकसभा चुनाव के करीब आते-आते देश में राम मंदिर पर सियासत तेज होती जा रही है।

केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विवादित बयान देते हुए कहा कि मुसलमान मुगल के वंशज नहीं बल्कि प्रभु श्रीराम के वंशज है इसलिए ये लोग राम मंदिर का विरोध न करे, और जो राम मंदिर का विरोध कर रहे है वो भी समर्थन में आ जाये वरना उनसे हिंदू नाराज हो जाएंगे।

विश्व हिंदू ने बयान का समर्थन किया लेकिन गिरिराज के इस बयान पर कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए इस आपत्तिजनक बताया है। वहीं कई मुस्लिम धर्मगुरुओं ने गिरिराज पर पलटवार किया है।

बीजेपी की बहराइच की सांसद सावित्रि बाई फुले ने इस बयान पर अपनी ही सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि चुनाव आते ही मंदिर मस्जिद, हिन्दू मुस्लिम का मु्द्दा उठाया जाता है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि साक्ष्य के आधार पर मंदिर बनाया जाये।

इस कारण साक्ष्यों के आधार पर अयोध्या में भगवान बुद्ध का मंदिर बनाया जाये क्योंकि खुदाई के दौरान वहां से भगवान बुद्ध की प्रतिमा मिली थी।

वहीं शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सरकार पर तंज कसते हुए कहा ये ये तो विष्णु के अवतार की सरकार है फिर कानून बना कर राम मंदिर क्यों नहीं बनाया जाता है। मुसलमान मुगल के वंशज बताने वाले बयान पर मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा गिरिराज सिंह के बयान पर अहमियत देने की जरूरत नहीं है। इस्लाम का फलसफा है कि जितने भी इंसान है हजरत-आदम-अल-ए-इस्लाम की औलाद हैं।

वहीं कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी का कहना है कि कौन किसकी औलाद है ये आपत्तिजनक है। किसी गोडसे की औलाद से शांति और अमन की उम्मीद नहीं कर सकता।

-ईएमएस