‘स्टेच्यू ऑफ युनिटी’ देखने जाएं तो अत्याधुनिक टेन्ट सिटी में रहें!


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 70 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में निर्मित 250 आधुनिक टेन्ट की सुविधा वाली टेन्ट सिटी का लोकार्पण किया।
(Photo: IANS/PIB)

– पीएम मोदी ने किया नर्मदा तट पर आधुनिक टेन्ट सिटी का लोकार्पण

– कुदरती सान्निध्य में 70 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में 250 भव्य टेन्टों का किया गया है निर्माण

अहमदाबाद | विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ के लोकार्पण के मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज नर्मदा मैय्या के कुदरती सान्निध्य में 70 हजार वर्गमीटर क्षेत्र में निर्मित 250 आधुनिक टेन्ट की सुविधा वाली टेन्ट सिटी का भी लोकार्पण किया। प्रधानमंत्री मोदी ने टेन्ट सिटी में तख्ती का अनावरण कर पर्यावरण प्रेमियों के लिए टेन्ट सिटी का शुभारंभ किया। उन्होंने पर्यटकों के लिए अनोखे आकर्षण के समान इस टेन्ट सिटी की सुविधाओं का निरीक्षण किया। यहां पर महिलाओं को आर्थिक उपार्जन उपलब्ध करवाने संबंधी आर्टिकल भी लगाए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने टेन्ट सिटी में स्थानीय गाइड के रूप में कार्यरत हुए युवक-युवतियों से गुजराती और हिंदी में वार्तालाप किया। इस टेन्ट सिटी के कारण खड़े होने वाले रोजगार के अवसरों में से 85-90 फीसदी अवसर स्थानीय युवाओं को मिलेंगे और इस क्षेत्र के आर्थिक विकास को गति मिलेगी। टेन्ट सिटी के लोकार्पण के अवसर पर कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला, मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, उप मुख्यमंत्री नितिनभाई पटेल और मुख्य सचिव डॉ. जे.एन. सिंह आदि महानुभाव उपस्थित थे।

पूर्ण सलिला नर्मदा नदी के प्राकृतिक सौंदर्य के बीच टेन्ट सिटी का निर्माण किया गया है। तालाब नं. 3 और तालाब नं. 4 के किनारे 50 हजार वर्गमीटर और 20 हजार वर्गमीटर- दो स्थलों पर यह टेन्ट सिटी ने आकार लिया है। इस टेन्ट सिटी में आवश्यक ढांचागत सुविधाएं, सड़क, बिजली और पानी जैसी सुविधाओं के साथ ही समतल जमीन पर विभिन्न भूमि दृश्य खड़े किए गए हैं। तालाब नं. 4 के नजदीक प्रथम टेन्ट सिटी में 50 टेन्ट और तालाब नं. 3 के किनारे स्थित दूसरी टेन्ट सिटी में 200 टेन्ट खड़े किए गए हैं। पर्यटकों के लिए टेन्ट सिटी में वडोदरा से आने-जाने की व्यवस्था तथा स्थानीय दर्शनीय स्थलों की मुलाकात जैसी सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएगी।

इस टेन्ट सिटी के रिसेप्शन एरिया में सरदार पटेल के जीवन-कवन के साथ जुड़ी हुई क्विज भी इंस्टॉल की गई है। यहां हरित ऊर्जा के साथ पूरी टेन्ट सिटी जगमगाए, इसके लिए 250 किलोवाट सूर्य ऊर्जा उत्पन्न करने वाले तैरते सौर पैनल भविष्य में स्थापित करने का आयोजन भी किया गया है। ठोस और तरल कचरे के प्रबंधन द्वारा यह पूरा संकुल पर्यावरण हितकारी बनेगा। यह ऐसा स्थल है जहां ऑर्गेनिक वेस्ट कन्वर्टर द्वारा जूठन में से बायो फर्टीलाइजर बनाया जाएगा। स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के आसपास का क्षेत्र एकदम स्वच्छ रहे, इसका भी खास ख्याल रखा गया है। संकुल का लगभग दो लाख वर्गमीटर का क्षेत्र संपूर्णतया साफ-स्वच्छ रहे इसके लिए बीवीजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को काम सौंपा गया है। इस कंपनी ने सफाई के कामकाज के लिए करीब 100 व्यक्तियों की टीम यहां पर लगाई गई है।

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी संकुल में विशेष प्रशिक्षण प्राप्त गाइड की सेवा भी उपलब्ध होगी। मात्र एक महीने में ही सघन प्रशिक्षण द्वारा 80 व्यावसायिक गाइड तैयार किए गए हैं। इनमें से 60 गाइड नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी- निफ्ट द्वारा डिजाइन की गई यूनिफॉर्म पहनकर टेन्ट सिटी में कार्यरत रहेंगे। श्रेष्ठ प्रशिक्षण प्राप्त इन 60 गाइड्स में 14 महिलाएं एवं 46 युवा हैं। इतना ही नहीं, 37 युवा नर्मदा जिले के हैं और 14 युवा छोटा उदेपुर जिले के हैं।

– ईएमएस