अटकलों पर लगा विराम, गहलोत और पायलट दोनों लड़ने वाले हैं विधानसभा चुनाव


राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनाव में सचिन पायलट और अशोक गहलोत, दोनों ही चुनाव लड़ने वाले है। अशोक गहलोत ने घोषणा की है।
Photo/YouTube
खुद अशोक गहलोत ने की इस बात की घोषणा

नई दिल्ली। राजस्थान कांग्रेस में कई दिनों से इस बात को लेकर अड़कले लग रही थी कि पूर्व सीएम गहलोत चुनाव लड़ने वाले हैं यहां फिर नहीं। लेकिन अब इन अटकलों पर विराम लगा चुका है। दरअसल राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनाव में सचिन पायलट और अशोक गहलोत, दोनों ही चुनाव लड़ने वाले है। दिल्ली में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने खुद इस बात की घोषणा की है। इससे पहले दोनों नेताओं के बीच अनबन की अटकलें सामने आ रही थीं। इसके बाद बुधवार को गहलोत ने खुद आगे आकर साफ किया है कि पायलट और वह दोनों नेता विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि पायलट राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष हैं और उन्हें राहुल गांधी का करीबी माना जाता है। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आगामी चुनाव में वह और पायलट दोनों ही भागीदारी करेंगे। इससे पहले चर्चाएं थीं कि अभी दोनों नेताओं की सीट तय न हो पाने की वजह से ही कांग्रेस अपने प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं कर रही है। गहलोत जोधपुर की सरदारपुरा सीट से चुनाव लड़ते रहे हैं।

बता दें कि राजस्थान कांग्रेस में लगातार गुटबाजी की खबरें सामने आ रही हैं। विपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने भी कुछ सीटों पर पायलट की चॉइस का विरोध करने की बात कही है। राजस्थान में 7 दिसंबर को विधानसभा चुनाव से पहले 200 विधानसभा सीटों के लिए कांग्रेस करीब 3,000 संभावित दावेदारों से जूझ रही है, जो बागी होकर राज्य में गणित बिगाड़ सकते हैं।

गौरतलब है कि राजस्थान में 7 दिसंबर को मतदान होना है और 11 दिसंबर को वोटों की गिनती की जाएगी। लेकिन अभी तक कांग्रेस ने अपने उम्मीदवारों की एक भी सूची जारी नहीं की है। क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत के सबसे बड़े राज्य राजस्थान में 33 जिले हैं, जिनमें कुल 200 विधानसभा सीटें हैं। मौजूदा वक्त में यहां बीजेपी सत्ता में है और वसुंधरा राजे सूबे की मुख्यमंत्री हैं। यहां पिछला चुनाव दिसंबर 2013 में हुआ था और मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल 20 जनवरी 2019 को खत्म हो रहा है।

– ईएमएस