पाकिस्तान पर भी मंडराया ‘वायु’ तूफान का खतरा, कराची में हाई अलर्ट


(Photo Credit : windy.com)

अरब सागर में उठा चक्रवात अब गुजरात के तट से नहीं टकराएगा। फिर भी भारतीय एजेंसियां ​​तूफान को लेकर 15 जून तक हाई अलर्ट पर हैं, वहीं पड़ोसी देश पर भी इस तूफान के बादल मंडरा रहे हैं। गुजरात से जुड़े पाकिस्तान के सिंध प्रांत में इस भीषण तूफान को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। ऐसा माना जाता है कि पाकिस्तान के दक्षिणी तट पर भारी हवाएं और बहाव की संभावना है।

इस बीच, कराची के शाहि निगम ने बुधवार को तूफान से बचाव की तैयारी शुरू कर दी और इसके लिए एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई। बैठक में इस बात पर चर्चा की गई कि चक्रवाती तूफान और गर्म हवाओं से लोगों को बचाने की तैयारी कैसे की जाए। अनंतिम आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, जिला प्रशासन, कराची नगर निगम, DMC, पाकिस्तानी नौसेना, छावनी बोर्ड और अन्य विभागों ने संयुक्त रूप से एक आकस्मिक योजना तैयार की है।

रिपोर्ट के अनुसार, मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि चक्रवाती तूफान की हवा पाकिस्तान के सिंध स्थित थट्टा से टकरा सकती है। इसके अलावा, 16-17 जून को तूफान सिंध के अन्य क्षेत्रों तक पहुंच सकता है। मौसम विभाग के अनुसार, कराची में बारिश के अलावा गर्म हवाएं चल सकती हैं।