जैश सरगना मसूद अजहर के दो भाइयों सहित पाकिस्तान में 44 आतंकी गिरफ्तार


पुलवामा हमले के बाद से चौतरफा घिरे पाकिस्तान ने आखिरकार जैश सरगना मसूद अजहर के दो भाइयों सहित 44 आतंकियों को गिरफ्तार किया है।
Photo/Twitter

पाकिस्तान के मंत्री ने कहा यहां कार्रवाई किसके दबाव में नहीं

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के बाद से चौतरफा घिरे पाकिस्तान ने आखिरकार जैश सरगना मसूद अजहर के दो भाइयों सहित 44 आतंकियों को गिरफ्तार किया है। पाकिस्तान के आंतरिक मामलों के मंत्री शहरयार अफ्रीदी ने मंगलवार को कहा कि मसूद अजहर के भाई मुफ्ती अब्दुल रऊफ और हम्माद अजहर सहित 44 आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि इमरान सरकार के मंत्री शहरयार ने दावा किया कि ये गिरफ्तारियां किसी दबाव में नहीं की गई हैं। शहरयार ने दावा किया कि पाकिस्तान सरकार का ये एक्शन किसी बाहरी दबाव में नहीं है। ये कार्रवाई सभी प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ की गई है। जैश सरगना मसूद अजहर के भाई मुफ्ती अब्दुल रऊफ और हम्माद अजहर की गिरफ्तारी को भले ही पाकिस्तान भारत का दबाव मानने से इनकार करे, लेकिन ये जगजाहिर है कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर आतंकी संगठनों पर एक्शन लेने का चौतरफा दबाव पड़ रहा है। इसकारण पाकिस्तान ने मसूद अजहर के दोनों भाइयों को गिरफ्तार किया है। शहरयार ने कहा कि भारत ने जो डोजियर सौंपा है, उसमें मसूद के इन दोनों भाइयों का नाम भी शामिल था। पाकिस्तान के मंत्री ने दावा किया है कि सोमवार को नेशनल एक्शन प्लान के तहत एक बैठक की गई, जिसमें तय किया गया कि प्रतिबंधित किए गए सभी संगठनों के खिलाफ तेजी से कार्रवाई की जाए।

वहीं रक्षा जानकारों के मुताबिक पुलवामा हमले के बाद से चौतरफा घिरा पाकिस्तान दुनिया को दिखाना चाहता है कि वो आतंकवाद पर नकेल कस रहा, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। दरअसल पाकिस्तान ऐसा कर दुनिया की आंख में धूल झोंकने की कोशिश कर रहा है। इसकी बानगी उस समय भी दिखी जब उसने दावा किया कि जमात-उद- दावा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जबकि ऐसा था नहीं।
पाकिस्तान के नेशनल काउंटर टेररिज्म अथॉरिटी के आंकड़ों के अनुसार,पाक सरकार ने कई आतंकी संगठनों पर कार्रवाई की है। इनमें से कुछ पर बैन लगाया गया है जबकि कुछ पर निगरानी रखी जा रही है। जिनपर निगरानी रखी जा रही है उसमें हाफिज़ सईद का जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन है।

– ईएमएस