सेना की पाक को चेतावनी, नागरिको को निशाना बनाया तो खतरनाक होगा अंजाम


पाक की तरफ से नियंत्रण रेखा पर लगातार भारी तोपखाने से नागरिक ठिकानों और भारतीय चौकियों पर गोलाबारी की जा रही है।
Photo/Twitter

जम्मू । पुलवामा में आतंकवादी हमले के बाद भारत की तरफ से की गई एयरस्ट्राइक से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाक की तरफ से नियंत्रण रेखा पर लगातार भारी तोपखाने से नागरिक ठिकानों और भारतीय चौकियों पर गोलाबारी की जा रही है। पाकिस्‍तान की ओर से लगातार सीजफायर उल्‍लंघन और नागरिक ठिकानों पर गोलाबारी पर बुधवार को आखिरकार भारतीय सेना ने पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी दी है। इसके पूर्व बुधवार को पाकिस्तानी सैनिकों ने सुबह 10.30 एलओसी पर गोलाबारी की। भारतीय सेना ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया है। एक आंकड़े के मुताबिक 14 फरवरी से अबतक पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर, खासकर राजौरी और पुंछ जिलों में पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का 60 से अधिक बार उल्लंघन कर चुका है।

Photo/Twitter

रक्षा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को भारी गोलाबारी हुई। रक्षा अधिकारियों ने इस एक ही दिन में तीसरा संघर्ष विराम उल्लंघन बताया। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा, जौरी के नौशेरा और सुंदरबनी सेक्टरों में नियंत्रण रेखा के पास छोटे हथियारों और तोपों से भारी गोलाबारी की गई। भारतीय सेना ने इसका दृढ़ता और प्रभावी तरीके से जवाब दिया।’

सेना ने कहा है, ‘नागरिकों को निशाना न बनाने’ की चेतावनी के बाद एलओसी पर फिलहाल शांति कायम है। पिछले 24 घंटे में पाकिस्तानी सेना ने बिना उकसावे के भारी हथियारों से सुंदरबनी और कृष्णा घाटी के इलाकों में फायरिंग की और मोर्टार दागे हैं। गोलीबारी के जरिए भारतीय पोस्ट को निशाना भी बनाया गया। भारत ने जवाबी हमला किया है। भारत की ओर से कोई हताहत नहीं है।’

पांच किमी तक सभी शिक्षण संस्थान बंद

इसके पूर्व सुंदरबनी सेक्टर में मंगलवार को लगभग 10.30 बजे से संघर्ष विराम का उल्लंघन कर गोलीबारी की। इसके बाद गोलीबारी अस्थायी तौर पर थम गई। राजौरी के नौशेरा सेक्टर और पुंछ के कृष्णाघाटी सेक्टर में मंगलवार को भी दोनों सेनाओं के बीच भारी गोलीबारी हुई थी। इस दौरान राजौरी के कलाल इलाके में एक सैनिक घायल हो गया था। इन दोनों जिलों में नियंत्रण रेखा से पांच किलोमीटर की दूरी के भीतर सभी शिक्षण संस्थान बंद हैं।

– ईएमएस