वायुसेना की एयरस्ट्राइक में तबाह हुआ आंतकी मसूद अजहर का शीश महल


आखिर जिस जगह बम गिरा था वहां था क्या? जी हां। वो दरअसल आतंक का शीश महल जिसे आंतकी मसूद अजहर ने दिया था।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। पुलवामा आंतकी हमलों के बाद पाकिस्तान स्थित बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर भारतीय वायु सेना ने हज़ार किलो बम कहां गिराया था? पाकिस्तान अभी तक ये दावे करता रहा कि बम जंगल में गिराए गए जिससे उस कोई नुकसान नहीं हुआ। इसके साथ ही पाकिस्तानी मीडिया ने भी टीवी चैनलों पर जंगल, पहाड़ और टूटे दरख्त दिखा कर पाकिस्तानी सरकार का साथ दिया। लेकिन बुधवार को इस बात का खुलासा हो गया हैं कि आखिर जिस जगह बम गिरा था वहां था क्या? जी हां। जिस जगह को पाकिस्तान जंगल बता रहा है, वो दरअसल आतंक का शीश महल जिसे आंतकी मसूद अजहर ने दिया था। जैश के सरगना मसूद अज़हर ने अपने उस ट्रेनिंग कैंप का जिस पर बम गिरे, आतंक का ये महल कितना बड़ा और आलीशान था और बमबारी के बाद अब क्या हो गया।

Photo/Twitter

इंडियन एयरफोर्स पर उठने वाले हर सवाल का जवाब हैं ये तस्वीरें है। पाकिस्तान के खैबर पख्तून के बालाकोट में ये वहीं थ्री स्टार टेरर कैंप था, जिस हिंदुस्तान ने नेस्तो नाबूत कर दिया। इस ही पाकिस्तान जंगल बताकर इंडियन एयरफोर्स की स्ट्राइक से अपना पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रहा था। आज इस जगह की तस्वीरें साफ कर रही हैं कि हां ये ही वो आतंक का सबूत हूं जिस दुनिया तलाश रही है। जैश-ए-मोहम्मद का इसी टेरर ट्रेनिंग कैंप पर 26 फरवरी की रात भारतीय वायुसेना जोरदार हमला किया था। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से करीब 200 किमी की दूर और नेशनल हाईवे 15 के ज़रिए बालाकोट में आतंक के इस शीश महल तक पहुंचा जा सकता था।
अब 6 एकड़ में फैली फ़िदायीन फैक्ट्री को समझ सकते हैं, जिस आतंक का शीश महल कहा जाता था। दो मंज़िला इस इमारत में करीब 5 गुंबद और एक बेसमेंट थी। सामने से ये कुछ इस तरह दिखता था,सामने एक शाही गेट दिखाई पड़ता था। जिसमें छोटे बड़े करीब दर्जन भर मेहराब थे। जिस आम ज़बान छोटा दरवाज़ा कह सकते हैं। और पीछे से आतंक का ये शीशमहल कुछ इस तरह दिखता था।

– ईएमएस