‘मीटू’ में सिर्फ सच बोला जाए : फराह खान


(Photo: IANS)

मुंबई। भारत में चल रहे ‘मीटू’ आंदोलन में अपने विचार साझा करने वाली हस्तियों में ज्वेलरी डिजाइनर फराह खान भी शामिल हुईं। उनका कहना है कि हालांकि वह उन बहादुर महिलाओं का समर्थन करती हैं, जिन्होंने अपने मुजरिमों के खिलाफ बोला है। वह यह भी चाहती हैं कि सच को बढ़ा-चढ़ा कर न पेश किया जाए, क्योंकि कुछ लोग इसका दुरुपयोग कर सकते हैं।

शनिवार को ट्वीट की एक श्रंखला में खान ने कहा, “मीटू पर मेरी टिप्पणी है.. मैं उन बहादुर महिलाओं का समर्थन करती हूं, जो अपने मुजरिमों के खिलाफ बोलने के लिए आगे आई हैं। लेकिन मैं यह भी कहती हूं कि बढ़ा-चढ़ाकर नहीं, सिर्फ सच बोला  जाना चाहिए, क्योंकि ईमानदारी और सच्चाई के साथ हम इसे और सफल बना सकते हैं। कुछ लोग इसका दुरुपयोग करने की भी कोशिश करेंगे।”

उन्होंने यह भी कहा कि जिन लोगों ने महिलाओं के साथ यौन उत्पीड़न किया है, उनके खिलाफ बोलने के लिए बहुत हिम्मत चाहिए होती है।

फराह ने कहा, “मैं उन बहादुर महिलाओं की सराहना करती हूं, क्योंकि केवल जूते पहनने वाले को ही पता है कि कटा कहां पर है। भरोसा है कि यह पुरुषों को अहसास दिलाएगा कि महिलाएं कोई यौन-वस्तु नहीं हैं। उनसे गरिमा के साथ बर्ताव किया जाना चाहिए।”

उन्होंने पोस्ट कर कहा, “मुझे यह भी लगता है कि कुछ लोग मीटू अभियान का दुरुपयोग करने का प्रयास कर सकते हैं, इसलिए सुरक्षित छेड़खानी और अशिष्ट भाव के बीच सावधानी से फर्क किया जाना चाहिए। जब हम इसे सच्चा और ईमानदार रखेंगे, तभी हम मुहिम में कामयाब हो पाएंगे।”

-आईएएनएस