नीरव मोदी की कंपनी ने पेंटिंग की नीलामी के खिलाफ भेजा लीगल नोटिस


नीरव मोदी की कंपनी कैमलोट इंटरप्राइस ने रेवेन्यू डिपार्टमेंट को 68 पेंटिंग्स की नीलामी के खिलाफ लीगल नोटिस जा‎री ‎किया है।
Photo/Twitter

मुंबई। देश में सबसे बड़ा बैं‎किंग घोटाला कने वाले भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की कंपनी कैमलोट इंटरप्राइस ने रेवेन्यू डिपार्टमेंट को 68 पेंटिंग्स की नीलामी के खिलाफ लीगल नोटिस जा‎री ‎किया है। कंपनी ने नीलामी को गैरकानूनी बताते हुए यह नोटिस भेजा है। गौरतलब है ‎कि तीन दिवसीय नीलामी की शुरुआत 27 मार्च को होनी है और रेवेन्यू डिपार्टमेंट इससे 97 करोड़ की कमाई की उम्मीद कर रहा है। ये पेंटिंग्स राजा रवि वर्मा, एफ एन सुजा, जोगेन चौधरी और अकबर पद्मसी जैसे लोकप्रिय भारतीय पेंटर्स की हैं। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अपनी बकाया रकम वसूलने के लिए नीलामी की प्रक्रिया शुरू की है। लीगल नोटिस में कहा गया है, सैफरनआर्ट ऑनलाइन आर्ट कैटालॉग में नीलामी के लिए 68 पेंटिंग की लिस्ट है। इस पर ध्यान नहीं दिया गया है कि 68 में से केवल 19 कंपनी से जुड़ी हैं। यह नीलामी गैर कानूनी है और इसे रद्द किया जाना चाहिए। नोटिस में यह भी कहा गया है कि कंपनी के एकमात्र डायरेक्टर हेमंत दाहयालाल भट न्यायिक हिरासत में हैं और कंपनी के सभी बही खातों, दस्तावेजों और रिकॉर्ड को अथॉरिटीज ने जब्त किया है और कंपनी के परिसरों पर सील लगी है।

दिलीप लखानी ने बताया, नीलामी को रोकने की यह कोशिश नाकाम हो सकती है क्योंकि टैक्स रिकवरी अधिकारी के पास ऐसे असेसी के एसेट्स की नीलामी करने का पावर है जिससे डिमांड की गई है और उस पर स्टे नहीं लगा है। हालांकि, लॉ फर्म का दावा केवल 19 पेंटिंग तक होगा जो असेसी से जुड़ी हैं। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट कोर्ट ने 20 मार्च को जांच एजेंसियों को नीरव मोदी के मालिकाना हक वाली 173 पेंटिंग और 11 वीइकल नीलाम करने की अनुमति दी थी।

बाद में टैक्स डिपार्टमेंट ने कोर्ट से इनमें से 68 पेंटिंग को नीलाम करने की अनुमति देने की गुहार लगाई थी। कोर्ट ने एन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट से ‘नो ऑब्जेक्शन’ मिलने के बाद इसकी अनुमति दे दी थी। ईडी ने पीएमएलए के तहत पेटिंग को जब्त किया था। बाकी की पेंटिंग की नीलामी ईडी की ओर से होगी। टैक्स डिपार्टमेंट ने 95।91 करोड़ रुपए के बकाया टैक्स की वसूली की जांच के हिस्से के तौर पर केमलॉट एंटरप्राइसेज और नीरव मोदी से जुड़ी अन्य फर्मों से जुड़ी पेंटिग्स जब्त की थी। डिपार्टमेंट ने कोर्ट को बताया था कि केमलॉट से संबंधित पेंटिंग्स का लाभार्थी नीरव मोदी है।

– ईएमएस