23 मई के बाद हर किसान के खाते में आएंगे पैसे: मोदी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस को निशाने पर लिया।
Photo/Twitter

मछुआरों के लिए बनाएंगे पृथक मंत्रालय

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस को निशाने पर लिया। पीएम मोदी ने दावा किया कि दिल्ली में एक बार फिर उनकी सरकार बनने जा रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा पहले चरण के मतदान के बाद ओडिशा से जो संकेत मिल रहे हैं, उससे साफ़ है कि दिल्ली में फिर एक बार मोदी सरकार और ओडिशा में भाजपा सरकार बनने वाली है।

उन्होंने कहा हमारे देश में सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है। कमी रही है तो उस पैसे के सही इस्तेमाल की। पहले की सरकारों ने कभी इस पर ध्यान नहीं दिया कि जितने पैसे भेजे जा रहे हैं, वे आप तक पहुंचे ही नहीं। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के इतने सालों तक यह भ्रष्टाचार चल रहा था। पहले कोई इसे कोई रोकने वाला नहीं था। अब आपके इस चौकीदार की सरकार ने यह व्यवस्था बनाई है कि सरकार अगर 100 पैसे भेजे, तो पूरे 100 पैसे देश के गरीबों पर खर्च हों।उन्होंने कहा कि आपने दिल्ली में एक मजबूर और भ्रष्ट सरकार भी देखी है। यह वह सरकार थी जो आपको मिलने वाली चीनी में घोटाला कर जाती थी। जो आपको मिलने वाले राशन में घोटाला कर जाती थी, जो किसानों को मिलने वाले यूरिया में घोटाला कर जाती थी। पीएम मोदी ने किसान सम्मान योजना को अपनी सरकार की बड़ी उपलब्धि बताया।

उन्होंने कहा कि अब तक इस पर 2 हेक्टेयर तक की लिमिट थी, लेकिन अब इसे हटाकर हर किसान को पैसा दिया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद हर किसान के खाते में पैसे जाएंगे। हम इस बार मछुआरों की तरक्की के लिए अलग से मंत्रालय बनाएंगे। उन्होंने कहा कि इस बार वह पानी के सही इस्तेमाल के लिए अलग से जल शक्ति मंत्रालय भी बनाएंगे।

पीएम मोदी के निशाने पर कांग्रेस के अलावा राज्य की बीजद सरकार भी रही। उन्होंने कहा केंद्र की तरफ से ओडिशा की मदद के लिए करोड़ों रुपए भेजे गए। राज्य सरकार उनका सही इस्तेमाल नहीं कर रही है। उन्होंने कहा जो चावल चौकीदार की सरकार भेजती है। वह बीजद सरकार अपना बताकर लोगों को देती है। उल्लेखनीय है कि इस बार भाजपा की नज़र ओडिशा पर है। यहां की 21 लोकसभा सीटों पर भाजपा ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतना चाहती है। भाजपा इस बार ओडिशा में विधानसभा चुनाव जीतने पर भी जोर लगा रही है। ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में चार चरणों में मतदान हो रहा है।

– ईएमएस