अगले दिनों में एक से ज्यादा सिम हो जाएगी गुजरे जमाने की बात


ग्राहक अब अलग-अलग कंपनियों के एक से ज्यादा सिम कार्ड की जगह किसी एक कंपनी के सिम कार्ड को ज्यादा तरजीह देने लगे हैं।
Photo/Twitter

मुंबई। दूरसंचार के क्षेत्र में अगले 6 माह में ग्राहकों की संख्या में 6 करोड़ तक की कमी आने का अनुमान है। दरअसल, ग्राहक अब अलग-अलग कंपनियों के एक से ज्यादा सिम कार्ड की जगह किसी एक कंपनी के सिम कार्ड को ज्यादा तरजीह देने लगे हैं। इसकी एक प्रमुख वजह सभी कंपनियों की लगभग एक जैसे टैरिफ प्लान हैं।

अब ग्राहक एक सिम को देंगे तरजीह

इंडस्ट्री ऐनालिस्टों के अनुसार भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने हाल ही में मिनिमम रिचार्ज प्लानों को लॉन्च करके रिलायंस जियो के मिनिमम टैरिफ प्लान के आस-पास ही अपने प्लानों का ऐलान किया है। विशेषज्ञों के मुताबिक अब ग्राहक इन्हीं तीनों कंपनियों में से किसी एक के सिम कार्ड को तरजीह देंगे। इस तरह सब्सक्राइबरों की कुल संख्या में तेज गिरावट देखी जा सकती है। अगस्त के आखिर में देश में कुल 1.2 अरब उपभोक्ता थे। विशेषज्ञों के मुताबिक, नए सिम कार्ड यानी यूनिक सब्सक्राइबर्स की संख्या में थोड़ी उछाल आएगी। देश में अभी करीब 7.3 करोड़ से 7.5 करोड़ यूनिक कस्टमर यानी सिंगल सिम वाले कस्टमर हैं। बाकी सभी 2 या अधिक सिम वाले कस्टमर हैं। सेलुलर ऑफरेटर्स असोसिएशन ऑफ इंडिया के डायरेक्टर जनरल राजन मैथ्यू के मुताबिक अगले 6 महीनों में सब्सक्राइबरों की संख्या में 2.5 से 3 करोड़ की कमी आ सकती है।

छह करोड़ सब्सक्राइबर्स घटेंगे

एक ऐनालिस्ट ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर बताया कि अगली 2 तिमाहियों में सब्सक्राइबरों की संख्या में 4.5 से 6 करोड़ तक की कमी आ सकती है। डेलाइट इंडिया के टेक्नॉलजी, मीडिया और टेलीकम्युनिकेशंस पार्टनर हेमंत एम. जोशी कहते हैं कि ग्राहक 2 सिम इसलिए इस्तेमाल करते हैं ताकि वे जगह के हिसाब से किफायती और अच्छी सर्विस का लाभ उठा सकें। अब, चूंकि सभी ऑपरेटरों की कीमत और सेवा गुणवत्ता एक समान है, तो कई कनेक्शन की कोई जरूरत ही नहीं रह गई है।

कई की जगह एक सिम का ट्रेंड अच्छा

जोशी के मुताबिक कई की जगह एक सिम कार्ड का ट्रेंड इंडस्ट्री के लिए अच्छा ही है। उनके मुताबिक इससे वास्तविक उपभोक्ताओं का पता चल सकेगा और उसी के मुताबिक टेलिकॉम कंपनियां अपनी आगे की रणनीतियां और विस्तार के कार्यक्रम तय कर सकेंगी। दरअसल, हाल ही में भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने नियमित रीचार्ज न कराने वाले उपभोक्ताओं की इनकमिंग सर्विस को बंद करना शुरू किया है। दोनों टेलिकॉम कंपनियों ने 28 दिन की वैधता वाले 35 रुपए, 65 रुपए और 95 रुपए के न्यूनतम रीचार्ज प्लान लांच किए हैं। इन दोनों कंपनियों के मिनिमम प्लान अब जियो के जियोफोन यूजर्स के लिए 49 रुपए के मिनिमम रिचार्ज प्लान के टक्कर में हैं, लिहाजा सब्सक्राइबरों को अब किसी एक ऑपरेटर को चुनने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

– ईएमएस