आजाद हिंद फौज की स्थापना की हीरक जयंती पर लाल किले में तिरंगा फहराएंगे मोदी


नई दिल्ली। मोदी सरकार आजाद हिंद फौज की स्थापना की 75वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 21 अक्टूबर को आजाद हिंद फौज की 75वीं वर्षगांठ पर लाल किले में तिरंगा फहराएंगे और आजाद हिंद फौज म्यूजियम का उद्घाटन भी करेंगे।

इस म्यूजियम में आजाद हिंद फौज और नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़े सामान को रखा जाएगा। इसके बाद पीएम मोदी 30 दिसम्बर को पोर्ट ब्‍लेयर में 150 फुट झंडा फहराएंगे ।

भोपाल और हरियाणा की धरती से चुनावी बिगुल बजाने के बाद अब प्रधानमंत्री मोदी का ध्यान बंगाल पर टिका हुआ है। बाबा साहेब आंबेडकर और सरदार वल्लभभाई पटेल के बाद अब मोदी सरकार नेताजी सुभाष चंद्र बोस के मार्गदर्शन पर चलने का मन बना रही है।

प्रधानमंत्री मोदी के साथ इस स्थापना दिवस पर लालती राम, जागीर सिंह, परमानंद, जगराम और राम गोपाल जैसे स्वतंत्रता सेनानी भी शामिल रहेंगे। साथ ही केंद्र सरकार के कुछ बड़े मंत्री भी इस आयोजन में शामिल हो सकते हैं।

इसके अलावा पीएम मोदी नेताजी द्वारा पहली बार भारतीय भूमि पर तिरंगा फहराए जाने की 75वीं सालगिरह पर पोर्टब्लेयर में होने वाले कार्यक्रम में शिरकत करेंगे।

पोर्ट ब्लेयर में 75 साल पहले 30 दिसंबर 1943 को पहली बार भारतीय जमीन पर सबसे पहले सुभाष चंद्र बोस ने तिरंगा फहराया था। झंडा फहराने के बाद पीएम मोदी नेताजी की याद में एक स्मारक डाक टिकट और सिक्का भी जारी करेंगे। इसके बाद पीएम सेलुलर जेल भी जाएंगे।

-ईएमएस