सिखों को मोदी सरकार ने दी सौगात, करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर बनाएगी मोदी सरकार


सिखों के प्रथम गुरु नानक देव की 500वीं जयंती पर मोदी सरकार करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर का निर्माण करेगी।
Photo/Twitter
मोदी सरकार के फैसले के बाद पाक भी हुआ तैयार

नई दिल्ली। सिखों के प्रथम गुरु नानक देव की 500वीं जयंती पर मोदी सरकार करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर का निर्माण करेगी। बुधवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में इसका फैसला लिया गया। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इसकी जानकारी दी। पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान यात्रा के बाद से ही करतारपुर साहिब कॉरिडोर की चर्चाएं जोरों पर थी। इस पर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है। राजनाथ सिंह ने जानकारी दी कि केंद्र सरकार इस पर्व को बड़े पैमाने पर मनाएगी। सरकार गुरदासपुर जिले से लेकर अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर तक करतारपुर कॉरिडोर का निर्माण करेगी। जहां सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। इस कॉरिडोर से लोगों को करतारपुर साहिब जाने में मदद मिलेगी। वहीं मोदी सरकार के इस ऐतिहासिक फैसले के जबाव में पाकिस्तान की ओर से खबर आ रही हैं कि पाकिस्तान भी इसके लिए राजी हो गया है। पाक सरकार की ओर से कहा गया हैं कि जल्द हुई खुशखबरी मिलेगी।

गृहमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के वित्त पोषण के साथ सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ करतारपुर गलियारा अत्याधुनिक बनाया जाएगा। बाद में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी इस बात की घोषणा की। राजनाथ सिंह ने कहा कि करतरपुर गलियारा पूरे वर्ष गुरुद्वारा दरबार साहिब जाने के लिए तीर्थयात्रियों को आसान और सुविधाजनक मार्ग प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान सरकार से उनके क्षेत्र में उपयुक्त सुविधाओं के साथ गलियारे को विकसित करने का आग्रह किया जाएगा। इस बीच पाकिस्तान से यह बी खबर आ रही है कि इमरान सरकार ने भी करतारपुर गलियारे को विकसीत करने के लिए अपना समर्थन दिया है। गृहमंत्री ने सभी राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों से श्री गुरु नानक देवजी की 550वीं जयंती मनाने का अनुरोध करते हुए कहा कि विदेशों में भी इस अवसर पर विशेष कार्यक्रम आयोजित किया जाए।

इसके अलावा पाकिस्तान सरकार से अपील की जाएगी वह अपने क्षेत्र के हिस्से में इसके लिए सुविधाएं बढ़ाएं। सरकार ने इसके अलावा ये भी फैसला किया है कि पंजाब के कपूरथला जिले में आने वाले सुल्तानपुर लोधी शहर को स्मार्ट सिटी के तौर पर डेवलप किया जाएगा। बता दें कि इस शहर को ‘पिंड बाबे नानक दा’ के नाम से जाना जाता है। इसके अलावा अमृतसर में भी गुरु नानक के नाम पर यूनिवर्सिटी बनाई जाएगी, जहां धर्म से जुड़ी पढ़ाई करवाई जाएगी। इस यूनिवर्सिटी का टाइअप अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालयों से किया जाएगा। वहीं रेल मंत्रालय भी गुरु नानक देव से जुड़े स्थानों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाएगा। भारत सरकार द्वारा यूनेस्को से अपील की जाएगी कि गुरु नानक के विचारों को सभी भाषाओं में प्रकाशित किया जाए। बता दें कि पाकिस्तान भी इस महीने के अंत से ही कॉरिडोर बनाना शुरू कर देगा। इमरान खान खुद इसकी शुरुआत करने वाले हैं, हालांकि, इसकी तारीख तय नहीं हुई है। कॉरिडोर 2019 तक पूरा हो सकता है।

– ईएमएस

अगले पेज पर देखे क्रेडिट वोर….