लापता वैज्ञानिक पुत्र के साथ अनहोनी की आशंका नहीं : पुलिस


मुंबई। भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र (बीएआरसी) के एक वैज्ञानिक के बेटे के लापता होने के पांच दिनों बाद पुलिस ने किसी प्रकार की अनहोनी की आशंका को खारिज कर दिया है, और उसकी तलाश जारी है। एक अधिकारी ने शनिवार को इस बात की जानकारी दी।

वाशी पुलिस के वरिष्ठ इंस्पेक्टर अनिल देशमुख ने आईएएनएस को बताया, “हमने एक विशेष टीम गठित की है, जो उसकी तलाश कर रही है, लेकिन अभी तक हमें कोई सफलता नहीं मिली है। उसे आखिरी बार 23 सितंबर की रात वाशी से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनल की ओर ट्रेन में चढ़ते हुए देखा गया था।”

उन्होंने कहा, “वह स्पष्ट रूप से बीच में किसी भी स्टेशन पर नहीं उतरा।”

उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता उसका पता लगाने की है, हालांकि अभी तक किसी प्रकार की अनहोनी की कोई आशंका नहीं है।

उन्होंने कहा कि एक करीबी रिश्तेदार की मौत के बाद नमन दत्त निराश था और उसका इलाज चल रहा था। वह कुछ महीने पहले भी लापता हो चुका था।

वह सेक्टर 17 स्थित अपने घर से लापता हुआ और परिजनों ने खोजबीन की असफल कोशिश के बाद वाशी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई।

बीएआरसी के वैज्ञानिक भास्कर दत्त की यह (नमन) इकलौती संतान है, जिसे उसके पिता ने देर रात एक बजे उसके कमरे से लापता पाया।

पुलिस ने बाद में कहा था कि सीसीटीवी में वह रात करीब साढ़े 10 बजे टी-शर्ट और जींस पहने इमारत से बाहर जाते दिखाई दे रहा है। यह समय उसके पिता द्वारा उसे अनुपस्थित पाए जाने से करीब दो घंटे पहले का है।

उसके करीब 20 मिनट बाद वह 10:50 पर उपनगर से सीएसएमटी की ओर जाने वाली ट्रेन पकड़ता हुआ दिखाई दिया, लेकिन उससे अभी तक संपर्क नहीं हो पाया है। क्योंकि उसके बाद से उसका मोबाइल फोन बंद है।

-आईएएनएस