फरार चल रही मंजू वर्मा बुर्का पहन पहुंची कोर्ट, किया समर्पण, हुई अचेत


मुजफ्फरपुर में हुए शर्मनाक महिला शेल्टर होम कांड की मास्टरमाइंड मंजू वर्मा ने बेगूसराय के मंझौल अनुमंडल अदालत में समर्पण कर दिया।
Photo/Twitter

बेगूसराय। बिहार के मुजफ्फरपुर में हुए शर्मनाक महिला शेल्टर होम कांड की मास्टरमाइंड मंजू वर्मा ने बेगूसराय के मंझौल अनुमंडल अदालत में समर्पण कर दिया। मंजू वर्मा के घर में गैर-कानूनी रूप से हथियार भी मिले थे जिसके बाद से वो फरार चल रही थी। समर्पण करने के बाद वर्मा कोर्ट में ही बेहोश हो गईं। उन्हें देखने के लिए मेडिकल टीम कोर्ट पहुंच गई है। मंजू अपने वकील के साथ कोर्ट पहुंची थीं। पुलिस उनकी तलाश बीते कई महीनों से कर रही थी। लेकिन नाकामयाब रही और अब मंजू वर्मा ने बेगूसराय में चुपचाप लोगों से छिप कर खुद को पुलिस के हवाले कर दिया हैं। एक तस्वीर से खुलासा हुआ है कि वो सरेंडर करने बुरका पहन कर आई थी। वे अपनी निजी गाड़ी से न आकर टेंपू से अदालत पहुंची ताकि इसकी भनक किसी को न लगे। 3 महीने से फरार मंजू वर्मा की संपत्ति को कोर्ट ने कुर्की-जब्ती करने का आदेश दे दिया था जिसकी प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी। इस आदेश के बाद जब बेगुसराय स्थित उनके आवास को कुर्क करने का काम शुरू हो गया। भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच उनके घर को तोड़ा गया। बेगूसराय एसपी अवकाश कुमार के नेतृत्व में मंजू वर्मा की संपत्ति की कुर्की प्रक्रिया शुरू की गई।

Photo/Twitter

इससे पहले शुक्रवार को मंझौल एसीजेएम कोर्ट ने पुलिस के आवेदन पर एक साथ इश्तेहार और कुर्की जब्ती का आदेश जारी कर दिया था। कोर्ट से जैसे ही इश्तेहार और कुर्की का आदेश जारी हुआ मंजू वर्मा के समर्थकों में मायूसी छा गई। ज्ञात हो कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन उत्पीड़न मामले में पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा का नाम आया था। इसके बाद सीबीआई ने पूर्व मंत्री के चेरियाबरियारपुर थाना क्षेत्र की श्रीपुर पंचायत के अर्जुन टोल स्थित आवास पर 17 सितंबर को छापेमारी की थी। इसमें सीबीआई टीम ने उनके आवास से 50 कारतूस बरामद किए थे। इस मामले में चेरियाबरियारपुर थाने में सीबीआई के अधिकारी ने पूर्व मंत्री और उनके पति के खिलाफ आर्म्स एक्ट में नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

– ईएमएस