मद्रास हाईकोर्ट ने टिक टॉक से बैन हटाया


मद्रास हाईकोर्ट ने टिक टॉक एप पर लगा प्रतिबन्ध इस शर्त पर हटा लिया कि एप पर पोर्नोग्राफिक सामग्री नहीं चलाई जाएगी।
(PC : growthtower.com)

चेन्नई। मद्रास हाईकोर्ट ने टिक टॉक एप पर लगा प्रतिबन्ध इस शर्त पर हटा लिया कि एप पर पोर्नोग्राफिक सामग्री नहीं चलाई जाएगी।
ज्ञात रहे कि सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को मद्रास उच्च न्यायालय को टिक टॉक पर प्रतिबंध के मामले में अंतरिम राहत याचिका पर 24 अप्रैल तक फैसला देने को कहा था।

मद्रास उच्च न्यायालय ने इसी महीने एक अंतरिम आदेश पारित करते हुए मोबाइल एप को अनुचित और अश्लील कंटेंट वाला बताते हुए उस पर प्रतिबंध लगा दिया था। उच्च न्यायालय ने 17 अप्रैल को टिक टॉक के स्वामित्व वाली चीनी कंपनी बाइटडांस द्वारा दायर याचिका पर प्रतिबंध पर रोक लगाने से मना कर दिया था।

इससे पूर्व अदालत ने अरविंद दातार को मामले में न्यायमित्र के रूप में नियुक्त किया और मामले की सुनवाई 24 अप्रैल का मुकर्रर की गई थी। आदेश को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती देते हुए टिक टॉक ने कहा कि जिस समस्या से वह जूझ रही है वही दूसरे सोशल मीडिया मंचों के साथ है, लेकिन टिक टॉक के खिलाफ चयनात्मक कार्रवाई संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है। आज के फैसले से टिक टॉक को रहत मिली है और कुछ शर्तों के साथ यह एप पुनः उपलब्ध हो सकेगा।

– ईएमएस