लोस चुनाव : चौथे चरण के मतदान हेतु चुनाव प्रचार थमा


लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण के लिए शनिवार शाम को प्रचार थम गया। इस चरण में 9 राज्यों की कुल 71 सीटों पर मतदान होना है।
Photo/Twitter

अब घर-घर दस्तक देगें प्रत्याशी

9 राज्यों की 71 सीटों पर होगा मतदान

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के चौथे चरण के लिए शनिवार शाम को प्रचार थम गया। इस चरण में 9 राज्यों की कुल 71 सीटों पर मतदान होना है। इसके लिए 29 अप्रैल को वोट डाले जाएगें। इसमें उत्तरप्रदेश (13), बिहार (5), मध्यप्रदेश (6), महाराष्ट्र (17), उड़ीसा (6), राजस्थान (13), पश्चिम बंगाल (8) और ओडिशा (6), जम्मू कश्मीर (1) झारखंड (1), में वोटिंग होगी। अब प्रत्याशी घर-घर जाकर अपना प्रचार करेगें।

उत्तरप्रदेश की जिन 13 सीटों पर मतदान होना है उनकी बात करें तो 13 सीटों में से 12 सीटें भाजपा के कब्जे में हैं केवल खीरी सीट सपा के पास है। वहीं राजस्थान की जिन 13 सीटों पर मतदान होना है, उन सभी पर भाजपा का कब्जा है। अगर मध्यप्रदेश की बात करें तो यहां पर छह सीटों पर मतदान होना है जिनमें से पांच (सीधी, शहडोल, जबलपुर, मांडला, बालाघाट) भाजपा के पास है केवल छिंदवाड़ा कांग्रेस के कब्जे में है। यह सीट 1980 से कांग्रेस के कमलनाथ के कब्जे में है। बिहार में इस चरण की पांच सीटों पर मतदान होना है इनमें से तीन (दरभंगा, उजियारपुर, बेगूसराय) पर भाजपा का कब्जा है जबकि बाकी दो सीटों (समस्तीपुर और मुंगेर) में रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के उम्मीदवार जीते थे।

झारखंड की तीनों सीटों की बात करे जहां इस चरण में चुनाव होना उनमें तीनों सीटों (चतरा, लोहरदगा और पलामू) पर भाजपा का कब्जा है। महाराष्ट्र की जिन 17 सीटों पर मतदान होना है उनमें से आठ पर भाजपा और आठ पर शिव सेना के पास हैं। पश्चिम बंगाल की बता करें तो आठ सीटों में से छह सीटों पर ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस और एक-एक पर कांग्रेस और भाजपा का कब्जा है। भाजपा ने आसनसोल सीट से जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस के खाते में बहरमपुर की सीट आई थी। ओडिशा की बात करें तो वहां पर इस चरण में छह सीटों पर मतदान होना है और सभी सीटें पर बीजू जनता दल का कब्जा हैं। इसके अलावा जम्मू कश्मीर की अनंतनाग सीट पर भी 29 अप्रैल को मतदान होगा। यह देश की एकमात्र ऐसी सीट है जिस पर तीन चरणों में मतदान हो रहा है।

इस चरण में सबसे कम 71 सीटों पर वोटिंग होनी है और 943 उम्मीदवार चुनावी मैदान में है। खास बात ये है कि इस चरण में पिछले चरण के मुकाबले सबसे ज्यादा दागी और करोड़पति उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। 29 अप्रैल को होने वाले चुनाव में 27 फीसदी प्रत्याशी दागी और 33 फीसदी प्रत्याशी करोड़पति हैं। इस चरण के चुनाव में कुल 210 प्रत्याशी दागी हैं। जिसमें सें 23 फीसदी यानी 210 प्रत्याशी पर मुकदमे दर्ज हैं। इनमें से 17 फीसदी यानी 158 प्रत्याशी पर गंभीर अपराधिक केस हैं। 33 फीसदी यानी 306 प्रत्याशी करोड़पति हैं। कुल 943 प्रत्याशियों की औसत संपति 4.53 करोड़ रुपए है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ सबसे अमीर उम्मीदवार हैं। महिला उम्मीदवार की बात करें तो हर चरण में 1 फीसदी महिला प्रत्याशी बढ़ रहीं हैं। पहले फेज में 7 फीसदी महिला थी तो दूसरे फेज में 8 फीसदी तीसरे फेज में 9 फीसदी और चौथे में 10 फीसदी महिलाएं हैं। शैक्षिक योग्यता के मामले में चौथे चरण के लगभग आधे उम्मीदवार (49 प्रतिशत) स्नातक हैं और 44 प्रतिशत उम्मीदवार पांचवी से 12 कक्षा तक पढ़े हैं।

– ईएमएस