चुनाव के पहले चरण के बाद डालिये कुछ आंकड़ों पर नज़र


2019 में लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान पूरा हो चुका है। 20 राज्यों में 91 सीटों पर लगभग 60 प्रतिशत मतदान हुआ। 2014 में, 91 सीटों पर 66.4 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था। पिछले वर्ष की तुलना में मतदान 6% कम हुआ है। पहले चरण के मतदान के बाद, सभी बल अब स्थिति को मापने की कोशिश कर रहे हैं। मतदान के आंकड़े प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अच्छी खबर लाएंगे या बुरी खबर।

(Photo Credit : bbc.com)

पहले चरण में, पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा मतदान 81 प्रतिशत हुआ। और बिहार में सबसे कम 50 प्रतिशत मतदान हुआ। इसलिए बंगाल में मतदान के बारे में सबसे अधिक जागरूकता देखी गई।

(Photo Credit : Classiciasacademy.com)

पहले चरण के मतदान की 2014 से तुलना की जाए तो 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा 32 सीटें जीतने में सफल रही थी। जबकि कांग्रेस के पास केवल 7 सीटें थीं। इसके अलावा 16 सीटों पर टीडीपी, 11 पर टीआरएस, 9 सीटों पर वीएसआर कांग्रेस, 4 सीटों पर बीजेडी और 12 सीटों पर अन्य दल शामिल थे।

2014 में पहले चरण में बीजपी की जीती 32 सीटों में यूपी में 8 सीटें, उत्तराखंड में 5, महाराष्ट्र में 7 में से 5, असम में 5 में से 4, बिहार में 4 में से 3 सीटें शामिल थी। दिलचस्प बात यह है कि गुरुवार को बिहार के चार निर्वाचन क्षेत्रों में, भाजपा चार सीटों में से एक पर चुनाव लड़ रही है। बाकी तीन सीटें जेडीयू और एलजेपी उम्मीदवारों को दी गई हैं।

(Photo Credit : freepressjournal.in)

भाजपा महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ चुनावी मैदान में उतरा है। इसके अलावा, असम में पांच सीटों पर चुनाव लड़ा गया है उनमें चार पर भाजपा और एक पर सहयोगी समूह असम गण परिषद मैदान में हैं। इसके अलावा बाकी राज्यों में भाजपा अकेले चुनाव लड़ रही है।

 

(Photo Credit : hindustantimes.com)

वहीं दुसरी ओर कांग्रेस ने 2014 में पहले चरण में जीत हांसिल की थी। इस वर्ष राहुल गांधी की अगुवाई में अत्तरी कांग्रेस की सीटों के लिए वे हर संभव कोशिश कर रहे हैं। बिहार में कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा है। जिसके चलते बिहार की एक भी सीट पर कांग्रेस मैदान में नहीं उतरी है। महाराष्ट्र में कांग्रेस एनसीपी के साथ मिलकर चुनाव में उतरी है। बाकी राज्यों में अकेले ही चुनाव लड़ेगी। 23 को अगर इन सभी सीटों पर कांग्रेस को सत्ता मिलती है या भाजपा फिर अपनी सीटों पर जीत बरकरार रखेगी यह देखना होगा।