लीबिया में फंसे भारतीय तुरंत वहां से निकलें : सुषमा स्वराज


ली‎बिया की राजधानी ‎त्रिपोली में संकट और गहराता जा रहा है।
Photo/Twitter

ली‎बिया में सत्ता पलटने के ‎लिए दो हफ्तों से ‎हिंसा का दौर जारी

नई दिल्ली। ली‎बिया की राजधानी ‎त्रिपोली में संकट और गहराता जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र समर्थित प्रधानमंत्री फायेज अल-सराज को सत्ता से बेदखल करने के लिए लीबियाई सेना के कमांडर खलीफा हफ्तार के सैनिकों ने एक हमला किया था और पिछले दो सप्ताह में हिंसा में त्रिपोली में 200 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। ‎‎‎

त्रिपोली के ‎बिगड़े हालातों को ध्यान में रखते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि 500 से अधिक भारतीय लीबिया की राजधानी त्रिपोली में फंसे हुए हैं और इन सभी भारतीयों को सुझाव ‎दिया ‎कि वे तुरंत शहर छोड़ दें। त्रिपोली में हिंसा जारी रहने के बीच मंत्री ने कहा कि लीबियाई राजधानी में फंसे हुए भारतीय अगर तुरन्त नहीं निकलते हैं तो बाद में उन्हें वहां से निकलना संभव नहीं हो पायेगा। स्वराज ने ट्वीट किया, ‘लीबिया से बड़ी संख्या में लोगों के जाने और यात्रा प्रतिबंध के बाद भी, त्रिपोली में 500 से अधिक भारतीय नागरिक हैं। त्रिपोली में हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं। वर्तमान में उड़ानों का संचालन हो रहा है।’ उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘कृपया अपने रिश्तेदारों और दोस्तों को त्रिपोली तुरंत छोड़ने के लिए कहें। क्यों‎कि हम बाद में उन्हें वहां से नहीं निकल पाएंगे।

– ईएमएस