गुजरात के विकास में उप्र का श्रम लगा है, वहां सबका सम्मान : रूपाणी


(Photo: IANS)

लखनऊ। गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमलों के बीच गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी सोमवार को यहां पहुंचे, और उन्होंने कहा कि गुजरात के विकास में उत्तर प्रदेश का श्रम लगा है, और वहां सबका सम्मान है।

गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हो रहे हमलों के पीछे कांग्रेस का हाथ बताते हुए उन्होंने कहा कि देश की अखंडता को तोड़ने की उनकी मंशा सफल नहीं होगी।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में एकता संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रूपाणी ने कहा, “उत्तर प्रदेश हो या गुजरात, हम सब एक मां की संतान हैं। हम एक हैं, एक भारत श्रेष्ठ भारत का काम कर रहे हैं। कुछ लोग भारत माता को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। देश की अखंडता और एकता को तोड़ने का जो काम कर रहे हैं, उन्हें हम चैलेंज कर रहे हैं, हम सब एक हैं।”

गुजरात में उत्तर प्रदेश के लोगों की सुरक्षा को लेकर उठ रहे सवालों के जवाब में गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग भारत की अखंडता को तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “गुजरात के विकास में उत्तर प्रदेश के साथ ही बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और ओडिशा के लोगों का योगदान है। गुजरात ने अकेले विकास नहीं किया। गुजरात के विकास में पूरे देश का हाथ है।”

रूपाणी ने कहा, “हम जिस पाठशाला में पड़े हैं, वहां हमें यह सिखाया गया है कि भारत की एकता को आगे की पीढ़ी तक जाना चाहिए। पहले की सरकारों ने ऐसा नहीं किया, यहां तक कि गांधी जी के विचार आगे बढ़े, इसके लिए प्रधानमंत्री ने काम किया है।”

इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नक्शे कदम पर ही गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी चल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जिस तरह से गुजरात में प्रधानमंत्री ने काम किया था और आज वह एक मॉडल बना हुआ है और विजय रूपानी जी भी उसी क्रम में लगातार काम कर रहे हैं।

योगी ने कहा, “गुजरात में बन रहे ‘स्टैच्यू ऑफ  यूनिटी’ पर्यटन का नया केंद्र बनेगा। अब सिर्फ लोग ताजमहल देख कर वापस नहीं जाएंगे। पर्यटक अब ताजमहल की तरह ‘स्टैच्यू ऑफ  यूनिटी’ को भी देखने जाएंगे।”

योगी ने कहा, “एक बड़े अच्छे उद्देश्य से आज विजय रूपानी उत्तर प्रदेश आए हैं। एक लंबे संघर्ष के बाद जब आजादी मिलने का रास्ता खुला तो अंग्रेजों ने देश में चाल चली, जिसमें लोगों को भड़काकर उनमें फूट डालने का काम किया गया था। उस समय सरदार वल्लभ भाई पटेल ने देश को एक साथ जोड़ने का काम किया था।”

-आईएएनएस