जीतू वघाणी ने की राहुल गांधी पर विवादित टिप्पणी


(Photo Credit : deshgujarat.com)

जब लोकसभा चुनाव हो रहे होते हैं, तो नेता जनता को आकर्षित करने के लिए विपक्ष दल के नेताओं पर अप्रासंगिक टिप्पणी करते हैं। बहुचराजी में आयोजित भाजपा के अधिवेशन में कल भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर विवादित टिप्पणी की।

जीतू वाघाणी ने राहुल गांधी पर हमला करते हुए कहा कि एक बार राहुल गांधी अंबाजी के दर्शन करने गए थे। राहुल गांधी को माताजी के दर्शन करने भी नहीं आते। पिछली विधानसभा में, कांग्रेस ने हिंदू समाज की भावना को भड़काया था। इस अवस्था में उनसे ज्यादा अपेक्षाएँ नहीं रखी जा सकती। उन्हें तो आयाति कहा जाता है इसिलिए उनको भगवती कुल की संस्कृति की कोई जानकारी नहीं हैं। मैंने टीवी में दृष्य देखे। वे सभा से पहले माताजी के पैरों के पास गये। यदि आप मां के पैर लगना होता है तो आपको सिर को जमीन पर लगाना पड़ता है। पहले तो भाई खड़ा खड़ा ही माँ के चरण छूने लगा। फोटो देखकर कोक भाई सभा में बोल रहे थे, कि भाई राहुल माताजी के पास माथा टेकने आए हैं। हराम के बराबर है अगर माथा टेकने आए हों तो। मैं कह रहा हूं कांग्रेस को यह बताना ।

जीतू वागाणी ने यह भी कहा कि इसी तरह राहुल गांधी एक बार राजकोट गए थे और वहां उन्हें आरती करना भी नहीं आता था। तब कांग्रेस के दिग्गज नेता उनके साथ थे, उन्होने राहुल को समझाया कि आरती इस प्रकार की जाती है। लेकिन राहुल गांधी ने नेताओं की बात नहीं मानी, और जैसे आरती कर रहे थे वैसे ही जारी रखी। फिर राहुल गांधी सोमनाथ गए थे। भगवान शिव न्याय के देवता हैं, वो किसी को नहीं छोड़ते, लेकिन राहुल ने यहां भी गलती कर दी। सोमनाथ मंदिर में एक रजिस्टर है। उसमें बड़े लोग पंजीकृत हैं और रजिस्टर में एक धर्म का स्थान है। यह स्थान उन्होने खाली छोड़ दिया। यह सब मैं नहीं कह रहा, रजिस्टर कह रहा है। ऐसे लोग हिंदू समाज को बहलाने फुसलाने के लिए निकले हैं।