रमजान के दौरान घाटी में सीजफायर की घोषण करे सरकार, आतंकी ना करें हमला: महबूबा


पीपुल्स डेमॉक्रैटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने सुरक्षाबलों और केंद्र सरकार से एक बार फिर घाटी में सीजफायर की घोषणा की मांग की है।
Photo/Twitter

श्रीनगर । जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम और पीपुल्स डेमॉक्रैटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने सुरक्षाबलों और केंद्र सरकार से एक बार फिर घाटी में सीजफायर की घोषणा की मांग की है। रमजान के महीने की शुरुआत से पहले महबूबा मुफ्ती ने सुरक्षाबलों से सीजफायर की अपील की है। महबूबा ने अपील में कहा है कि कश्मीर के लोगों को शांति देने और रमजान के पाक महीने को देखते हुए घाटी में रमजान के पूरे महीने आतंकी मुठभेड़ और सर्च ऑपरेशन जैसी कोई भी कार्रवाई ना की जाए। इसके अलावा महबूबा ने आतंकियों से भी रमजान के दौरान कोई हमला ना करने की अपील की।

महबूबा ने कहा, रमजान का महीना करीब है। इस पूरे महीने लोग दिन-रात इबादत करते हैं और मस्जिदों में जाते हैं। इसमें मैं सरकार से मांग करती हूं कि पिछले साल की ही तरह इस साल भी रमजान के महीने में घाटी में सीजफायर घोषित किया जाए। इस अवधि में घाटी में क्रैकडाउन और सर्च ऑपरेशन जैसी कोई कार्रवाई ना की जाए, जिससे कि जम्मू-कश्मीर के लोग आराम से यह पूरा महीना बिता सकें।’

आतंकियों से हमला ना करने की अपील

इसके अलावा महबूबा ने आतंकी संगठनों से भी अपील करते हुए कहा कि मैं आतंकवादियों से भी यह कहना चाहती हूं कि रमजान का महीना इबादत और दुआओं का महीना होता है, ऐसे में उनको भी इसका ख्याल करते हुए इस दौरान किसी भी तरह का आतंकी हमला नहीं होना चाहिए। बता दें कि महबूबा मुफ्ती के सीएम रहते हुए केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में बीते साल रमजान के महीने में सीजफायर का ऐलान किया था। जम्मू-कश्मीर में सीजफायर की घोषणा होने के बाद भी सुरक्षाबलों पर कई आतंकी हमले हुए थे। इसके अलावा कई बार आतंकियों ने स्थानीय नागरिकों को भी निशाना बनाने की कोशिश की थी।मुफ्ती द्वारा की गई सीजफायर की अपील को प्रदेश में उनके द्वारा सियासी फायदे का एक स्टंट माना जा रहा है।

– ईएमएस