इजरायल चुनाव में भारत के स्टाइल में हुआ कैंपेन


इजरायल में मंगलवार को आम चुनाव के लिए वोटिंग हुई । इसमें भारतीय लोकसभा चुनाव की भी झलक है।
Photo/Twitter

खुद को मिस्टर सिक्यॉरिटी की तरह पेश करते हैं मोदी के ‘दोस्त’

नई दिल्ली। इजरायल में मंगलवार को आम चुनाव के लिए वोटिंग हुई । कहने को तो यह दुनिया के एक देश में होनेवाला आम चुनाव है, लेकिन अगर गौर से देखा जाए तो पता चलेगा कि इसमें भारतीय लोकसभा चुनाव की भी झलक है। वहां के मौजूदा पीएम खुद को मोदी की तरह चौकीदार बताते हैं। दोनों देशों के चुनाव में आतंकवाद ही ऐसा मुद्दा है जिस पर मौजूदा सरकारें खेल रही हैं। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि भारत के इस मित्र देश में चुनाव भी भारत के ही अंदाज में हो रहे हैं।

भारत में चुनाव जहां नरेंद्र मोदी के इर्द-गिर्द लड़ा जा रहा है, वहीं इजरायल में ऐसी ही इमेज वाले बेंजामिन नेतन्याहू हैं। इतना ही नहीं जहां भारत में मोदी खुद को चौकीदार बताते हैं, वहीं इजरायल में नेतन्याहू अपने आप को ‘मिस्टर सिक्यॉरिटी’ कहते हैं। मोदी की तरह नेतन्याहू के लिए भी यह मुकाबला आसान नहीं है, लेकिन दोनों को ही फिर से सरकार बनाने का पूरा भरोसा है। भारत और इजरायल में आम चुनावों के लिए वोटिंग भी लगभग आसपास हो रही है। जहां इजरायल में 9 अप्रैल को मतदान हुआ वहीं भारत में 11 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होगा। इतना ही नहीं इजरायल का चुनाव प्रचार भी कुछ-कुछ भारत के स्टाइल में हो रहा है। इजरायल की जनता कई सालों बाद इतने कड़े मुकाबले में मतदान कर रही है।

प्रधानमंत्री और दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी के नेता बेंजामिन नेतन्याहू पांचवी बार प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में हैं। लेकिन उन पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं और उन्हें सेवानिवृत्त जनरल बेनी गैंट्ज से कड़ी टक्कर मिल रही है। ब्ल्यू ऐंड वाइट गठबंधन के प्रमुख गैंट्ज, नेतन्याहू को सुरक्षा के प्रमुख मुद्दे पर चुनौती दे रहे हैं और साफ-सुथरी राजनीति का वादा कर रहे हैं। इसे ऐसे समझें कि जैसे भारत में एनडीए (बीजेपी और अन्य दल) का मुकाबला महागठबंधन समेत अन्य पार्टियों से है। ऐसे ही नेतन्याहू को सीधी टक्कर लेफ्ट पार्टियों के गठबंधन से मिल रही है।

– ईएमएस