श्रीगंगानगर सीमा में घुसपैठ करते पाक टोही विमान को बीएसएफ ने खदेड़कर भगाया


एक बार फिर पाकिस्तानी ड्रोन ने राजस्थान से सटी भारतीय सीमा में घुसा और फिर वापस चला गया।
Photo/Twitter

जयपुर। कहते है कि कुत्ते की पूंछ को कितने दिन भी पोगली में रखो वह तेडी़ की तेड़ी रहती है, वहीं हाल पाकिस्तान का है। भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहा है। एक बार फिर पाकिस्तानी ड्रोन ने राजस्थान से सटी भारतीय सीमा में घुसा और फिर वापस चला गया। बीएसएफ ने ड्रोन के मार गिराने का प्रयास भी किया लेकिन वह तुरंत वापस लौट गया। बीएसएफ ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार करते हुए पाकिस्तानी ड्रोन सुबह करीब पांच बजे श्रीगंगानगर के पास हिंदमलकोट सीमा में घुस गया। ड्रोन को देखते ही सेना ने फायरिंग करनी शुरू कर दी। इसके बाद ड्रोन तुरंत वापस लौट गया। ग्रामीणों का कहना है कि सीमा पर सुबह उन्होंने भारी गोलीबारी की आवाज सुनीं।

इससे पहले सोमवार को भी पाकिस्तानी ड्रोन राजस्थान के बीकानेर सीमा पर अनूपगढ़ सेक्टर में घुस गया था, जिसे भारतीय वायुसेना ने ड्रोन (यूएवी) को मार गिराया था। यह ड्रोन सोमवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे पाक सीमा की तरफ से आया और अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करते हुए अनूगढ़ सेक्टर से भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहा था। वायुसेना के जेट विमानों ने हवा में मिसाइलें दागी और इसे मार गिराया। इसका मलबा पाक सीमा में तीन किलोमीटर अंदर फोर्ट अब्बास एरिया में गिरा था। 26 फरवरी को भी भारतीय सेना ने पाक सीमा से सटे कच्छ के अबडासा के निकट घुसे एक पाकिस्तान का रिमोट कंट्रोल संचालित ड्रोन को मार गिराया था। कच्छ के आसपास के गांव के लोगों को सुबह जोरदार धमाका सुनाई दिया और स्थल पर से ड्रोन के टुकड़े भी मिले।

ज्ञात हो कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत ने 26 फरवरी को एक और एयर स्ट्राइक करके पाकिस्तान को भौचक्का कर दिया था। भारतीय वायुसेना के मिराज-2000 विमानों ने पाकिस्तान में घुसकर आतंकी संगठन जैश ए मुहम्मद के कई ठिकानों पर लेजर गाइडेड बम गिराकर नेस्तनाबूत कर दिया। भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 फायटर जेट ने एलओसी के भीतर 80 किलोमीटर तक अंदर जाकर जैश, लश्कर के लॉन्च पैड तबाह किए। इस हमले में कई आतंकी मारे गए।

– ईएमएस