इंदौर ने स्वच्छता सर्वेक्षण में मारी बाजी, बना देश का सबसे साफ शहर


स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के सबसे स्वच्छ शहरों में मध्य प्रदेश का इंदौर लगातार तीसरी बार देश के सबसे साफ शहरों में चुना गया।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के सबसे स्वच्छ शहरों के नाम का ऐलान कर दिया। इसमें मध्य प्रदेश का इंदौर लगातार तीसरी बार देश के सबसे साफ शहरों में चुना गया। जबकि भोपाल ने देश की सबसे साफ़ राजधानी की कैटेगरी में बाजी मारी है। 10 लाख की आबादी वाली कैटेगरी में गुजरात के अहमदाबाद और 5 लाख की आबादी वाले शहर में मध्य प्रदेश के उज्जैन को सबसे स्वच्छ शहर चुना गया है। गौरतलब है कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के तहत सात वर्गों में पुरस्कार दिए गए हैं। इनमें सबसे स्वच्छ शहर, सबसे स्वच्छ बड़ा शहर (10 लाख से ज्यादा आबादी वाला), सबसे स्वच्छ मध्यम आबादी वाला शहर, सबसे स्वच्छ छोटा शहर, सबसे स्वच्छ राजधानी, सबसे स्वच्छ कैंटोनमेंट, सबसे स्वच्छ गंगा टाउन कैटगिरी शामिल थी।

उल्लेखनीय है कि स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 की कैटेगरी में सबसे ज्यादा मध्य प्रदेश के शहरों ने खिताब जीते हैं। मध्य प्रदेश की ओर से मंत्री जयवर्धन सिंह ने यह पुरस्कार लिया। मध्य प्रदेश के इंदौर को सबसे साफ़ शहर, भोपाल को सबसे साफ़ राजधानी और सबसे स्वच्छ छोटा शहर (5 लाख तक की आबादी वाला) कैटेगरी में उज्जैन को सबसे साफ़ शहर चुना गया है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के तहत सबसे स्वच्छ गंगा टाउन कैटगिरी भी शामिल थी। इस कैटेगरी के अंतर्गत गंगा के किनारे बसी तहसीलों को सफाई के आधार पर सबसे साफ़ चुना जाना था। इसमें उत्तराखंड के गौचर ने सबसे साफ़ तहसील का खिताब हासिल किया है। राजधानी दिल्ली भी स्वच्छता के मामले में आगे आई है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 में सबसे स्वच्छ कैंटोनमेंट एरिया में दिल्ली कैंट को चुना गया है। जबकि सबसे स्वच्छ निगम में एनडीएमसी दिल्ली (3 लाख से कम आबादी) को सबसे साफ़ चुना गया है।

– ईएमएस