भारत बड़े परिवर्तन के दौर से गुजर रहा : मोदी 


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (File Photo: IANS)

मनीष गुप्ता

देहरादून| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत प्रमुख सामाजिक और आर्थिक परिवर्तनों के दौर से गुजर रहा है और इसके परिणामस्वरूप, नया भारत वैश्विक विकास के लिए मुख्य स्रोत साबित होगा।

मोदी ने यहां उत्तराखंड में इन्वेस्टर्स समिट में कहा, “भारत में तेजी से आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन हो रहा है। देश एक बड़े बदलाव के दौर से गुजर रहा है। हम एक नए भारत की तरफ बढ़ रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “दुनिया में हर प्रमुख संस्थान भविष्यवाणी कर रहा है कि आने वाले दशकों में, भारत विश्व विकास का ड्राइविंग इंजन होगा।”

मोदी ने कहा कि पिछले कुछ सालों में भारत की अर्थव्यवस्था स्थिर हो गई है, राजकोषीय घाटा कम हो गया है, मुद्रास्फीति नियंत्रण में है और मध्यम वर्ग बढ़ रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “स्तर और गति जिस पर सुधार हो रहा है, अभूतपूर्व हैं। पिछले दो वर्षो में, केंद्र और राज्य सरकारों ने 10,000 से अधिक सुधारों की शुरुआत की है। भारत ने ‘इज ऑफ डूइंग’ सूचकांक में वैश्विक स्तर पर 42 अंक की महत्वपूर्ण उछाल प्राप्त की है।”

उन्होंने कहा, “इन सुधारों के तहत, 1,400 से अधिक कानूनों को निरस्त कर दिया गया है। प्रमुख कर सुधार लाए गए हैं। शोधन अक्षमता एवं संहिता (आईबीसी) ने व्यापार करना आसान बनाया है और बैंकिंग प्रणाली को मजबूती दी है।”

मोदी ने कहा कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) आजादी के बाद से सबसे बड़ा कर सुधार रहा है जिसने पूरे देश को एकल बाजार बना दिया और कर आधार को बढ़ा दिया है।

उन्होंने कहा कि पिछले एक साल में 10,000 किलोमीटर से अधिक राष्ट्रीय राजमार्गो के निर्माण के साथ ‘रिकॉर्ड गति’ में आधारभूत संरचना विकसित हो रहा है।

मोदी ने कहा, “इसका मतलब प्रति दिन 27 किलोमीटर से अधिक सड़क निर्माण होना है। पिछली सरकारों के कार्यकाल के दौरान सड़क विकास की तुलना में यह दर दोगुनी है।”

मोदी ने कहा कि सरकार ने 400 रेलवे स्टेशनों के आधुनिकीकरण की शुरुआत की है। सरकार 100 नए हवाईअड्डे और हैलीपेड बनवा रही है और इसके साथ ही 100 जलमार्गो के निर्माण का कार्य कर रही है।

प्रधानमंत्री ने ‘सभी के लिए घर’, ‘सभी के लिए स्वास्थ्य’, ‘सभी के लिए बैंकिंग’ सुविधा का उल्लेख किया।

विश्व के सबसे बड़े स्वास्थ्य सुविधा योजना में निवेशकों को आमंत्रित करते हुए मोदी ने कहा कि ‘आयुष्मान भारत’ ने स्वास्थ्य सुविधा के क्षेत्र में खासकर अस्पतालों, डॉक्टरों, पारामेडिक्स और दवाइयों के क्षेत्र में मुख्यत: टायर-2 और टायर-3 शहरों में बड़ा अवसर प्रदान किया है।

मोदी ने कहा, “यह परियोजना अमेरिका, कनाडा, मेक्सिको की कुल आबादी की संख्या से भी ज्यादा आबादी को कवरेज प्रदान करती है। इसकी आबादी पूरे यूरोप से ज्यादा है।”

उत्तराखंड के बारे में उन्होंने कहा, “आज उत्तराखंड तीव्र गति से आर्थिक विकास के पथ पर बढ़ रहा है।”

उन्होंने उम्मीद जताई कि दो दिवसीय समारोह में समझौतों पर हस्ताक्षर का नतीजा जल्द ही जमीन पर दिखेगा, ताकि लोगों को नौकरियां और अन्य सुविधा मिले।

मोदी ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री रहने के दौरान वह कैसे दक्षिण कोरिया का अनुसरण करने की बात कहते थे, जबकि लोग उनसे अमेरिका या ब्रिटेन का अनुसरण करने की बात कहने की उम्मीद करते थे। उन्होंने कहा कि गुजरात और दक्षिण कोरिया में काफी समानताएं हैं।

उन्होंने कहा, “हमारे राज्यों में कई देशों से ज्यादा क्षमताएं हैं और प्रत्येक राज्य अपनी क्षमता के अनुसार इस दिशा में काम कर सकता है। आज सौभाग्य से, राज्यों में स्वस्थ प्रतियोगिता है और कोई भी राज्य अब पीछे नहीं रहेगा, अगर वह अपने ताकत के हिसाब से काम करे।”

मोदी ने कहा कि उत्तराखंड हिमालय की गोद में बसा है और यहां गंगा भी है। इसके पास विशेष ‘एसईजेड’ है जो कि विशेष आर्थिक जोन से अलग है।

उन्होंने कहा, “यह आध्यात्मिक इको-जोन है जोकि सामान्य एसईजेड से कई गुणा ताकतवर है।”

–आईएएनएस