कर्ज देने की क्षमता बढ़ाने आरबीआई ने बैंकों को दिए 35 हजार करोड़


आरबीआई ने कर्ज देने की क्षमता को बढ़ाने के लिए अपने बैंकों को लगभग 35 हजार करोड़ रुपए मंगलवार को दिए हैं।
Photo/Twitter

नई दिल्ली । आरबीआई ने कर्ज देने की क्षमता को बढ़ाने के लिए अपने बैंकों को लगभग 35 हजार करोड़ रुपए मंगलवार को दिए हैं। रिजर्व बैंक ने नकदी तरलता बढ़ाने के लिए 5 अरब डॉलर की राशि बैंकों से लेने का लक्ष्य रखा था, जो आसानी से पूरा हो गया।

आरबीआई ने बताया कि डॉलर-रुपये विनिमय की अपनी तरह की पहली नीलामी के तहत मंगलवार को सिस्टम में करीब 35 हजार करोड़ रुपये डाले। विनिमय की नीलामी प्रक्रिया काफी सफल रही है। इसके तहत बैंकों से तीन साल की अवधि के लिए 5 अरब डॉलर लिए गए हैं। बदले में बैंकों को 34,561 करोड़ रुपये दिए गए। नीलामी प्रक्रिया के दौरान आरबीआई को तय लक्ष्य से तीन गुना बोली मिली और कुल 16.31 अरब डॉलर विनिमय के लिए पेश किए गए। आरबीआई का यह कदम बैंकों को विदेशी मुद्रा जमा करने के लिए प्रोत्साहित करेगा, जिससे विदेशी निवेश बढ़ाने में मदद मिलेगी।

आरबीआई ने बैंकों से तीन साल के लिए डॉलर लिया है, जिस पर प्रीमियम दर बाजार की अपेक्षा 35 पैसे कम रखी है, जो बैंकरों की उम्मीद से ज्यादा ही रही। इस नीलामी के लिए आरबीआई ने अपनी कटऑफ दर 7.76 रुपये रखी थी। इस बोली प्रस्रि5या में सबसे ज्यादा लाभ निजी बैंकों को होगा। उनकी अनुमानित कटऑफ आरबीआई के करीब थी, जिससे वे डॉलर के बदले रुपये लेने की ज्यादा सहज स्थिति में रहे। आरबीआई के इस फैसले से बैंक कर्ज देने में पहले से ज्यादा सक्षम होंगे।

– ईएमएस