आयकर विभाग ने विपक्षी दलों के नेताओं पर डाले 15 छापे


आयकर विभाग विपक्षी दलों के नेताओं पर चुनाव के दौरान छापा डालने की सारे देश में बड़ी तीव्र प्रतिक्रिया हो रही है।

नई दिल्ली। आयकर विभाग विपक्षी दलों के नेताओं पर चुनाव के दौरान छापा डालने की सारे देश में बड़ी तीव्र प्रतिक्रिया हो रही है। चुनाव आयोग ने भी नाराजी व्यक्त की है।पिछले छह माह में लगभग 15 छापे आयकर विभाग ने कर्नाटक आंध्र प्रदेश मध्य प्रदेश तमिलनाडु उत्तर प्रदेश इत्यादि राज्यों में विपक्षी दलों के नेताओं के यहां डाले हैं। चुनाव आयोग ने एडवाइजरी जारी करके आयकर विभाग के राजस्व विभाग को स्पष्ट निर्देश दिए हैं, कि चुनाव के दौरान पूर्व सूचना देकर ही तटस्थ और निष्पक्ष तरीके से ही कार्यवाही आयकर विभाग करे।

12 मार्च को उत्तर प्रदेश कैडर के सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी और मायावती के करीबी नेतराम के यहां छापा डाला गया था। आम आदमी पार्टी के दो नेताओं के यहां जिनमें कैलाश गहलोत और नरेश बालियान शामिल हैं इनके यहां पर भी आयकर विभाग ने छापे डाले। मार्च माह में ही जनता दल एस के नेता और कर्नाटक के मंत्री पुत्र राजू के परिसर में आयकर विभाग ने छापा डाला था। आयकर विभाग ने मुख्यमंत्री कुमार स्वामी के भाई एवं सार्वजनिक निर्माण मंत्री एचडी रेवन्ना के आवास पर भी छापा मारा था। इसके साथ ही जनता दल एस के अन्य लोगों के घरों पर भी छापे डाले गए थे ।

5 अप्रैल को आंध्र प्रदेश के टीडीपी नेता रमेश के घर छापा डाला गया। इसी तरह 29 मार्च को तमिलनाडु में डीएमके पार्टी के कोषाध्यक्ष और उनके बेटे के संस्थानों पर छापे डाले गए। 3 अप्रैल को टीडीपी के प्रत्याशी पुत्ता सुधा यादव के घर छापे डाले गए। हाल ही में 7 अप्रैल को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और 50 स्थानों पर छापेमारी की गई। इसके बाद यह मामला तूल पकड़ रहा है, कि चुनाव के दौरान विपक्षियों को बदनाम करने के लिए आयकर विभाग सरकार के इशारे पर छापेमारी कर रही हैं।

– ईएमएस