पजेशन में एक साल से ज्यादा देरी तो लौटानी होगी रकम


आयोग ने कहा है कि अगर बिल्डर एक साल से ज्यादा देरी करता है तो खरीदार रिफंड का दावा कर सकता है।
Photo/Twitter

नई दिल्ली। घर लेने के बाद पजेशन का इंतजार कर रहे लाखों खरीदारों के लिए यह राहत की खबर है। शीर्ष उपभोक्ता आयोग ने फ्लैट तैयार करने की देरी की सीमा निर्धारित कर दी है। आयोग ने कहा है कि अगर बिल्डर एक साल से ज्यादा देरी करता है तो खरीदार रिफंड का दावा कर सकता है। बता दें कि कई न्यायिक संस्थाएं और सुप्रीम कोर्ट भी बार बार कह चुका है कि ग्राहक रिफंड का दावा कर सकता है लेकिन अब तक यह स्पष्ट नहीं किया गया था कि आखिर कितनी देर होने पर रिफंड का दावा किया जाए।

इस मामले में दिल्ली के रहने वाले शलभ निगम ने याचिका दायर की थी। उन्होंने 2012 में अल्ट्रा लग्जरी हाउजिंग प्रॉजेक्ट ग्रीनपोलिस गुडग़ांव में अपना घर बुक किया था। इसे ओरिस इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी बना रही थी। उन्होंने 90 लाख के आसपास भुगतान कर दिया था और इसकी कुल कीमत एक करोड़ थी। अग्रीमेंट के मुताबिक 36 महीने यानी तीन साल में फ्लैट मिल जाना चाहिए था लेकिन बिल्डर फ्लैट का काम पुरा नहीं करा सका। इसके बाद निगम ने आयोग का रुख किया।

– ईएमएस